मुंगेर में बालू माफियाओं की दबंगई: सिपाहियों को वर्दी उतार कर पीटा, मोबाइल और नकद भी छीना

मुंगेर: बिहार के मुंगेर जिले में बालू माफियाओं ने ग्रामीणों के साथ मिलकर खनन विभाग की टीम पर हमला बोल दिया. जिले के हवेली खड़गपुर थाना क्षेत्र के भलुआकोल गांव में हुई इस घटना में विभाग के चार कर्मी जख्मी हो गए हैं. मिली जानकारी अनुसार ग्रामीणों ने कर्मियों से मोबाइल, टॉर्च और नकद छीनने के साथ-साथ वर्दी उतरवा कर उनके साथ मारपीट भी की है. वहीं, खनन विभाग के वाहन को भी नुकसान पहुंचाया है. 

गुरुवार की देर रात हए इस हमले के बाद खनन विभाग के कर्मी ग्रामीणों से उनके घरों में पनाह मांगते रहे. लेकिन जब ऐसा नहीं हुआ तो उन्होंने किसी प्रकार भागकर खुद को हमले से बचाया. इधर, ग्रामीण सूत्रों की मानें तो नकली खनन कर्मी बनकर अवैध वसूली की जानकारी मिलने के बाद ग्रामीणों ने इस घटना को अंजाम दिया है. इस घटना में लिखित रूप से खड़गपुर थाने में अब तक आवेदन नहीं दिया गया है.

इस संबंध में जिला खनन पदाधिकारी गोपाल साह ने बताया कि गुरुवार की रात आरक्षी शिवेंद्र चौधरी, शंकर कुमार यादव, सुनील कुमार यादव नवल किशोर सिंह के साथ खड़गपुर-गंगटा मुख्य मार्ग के भलुआकोल गांव में बालू लदे ट्रकों की जांच कर रहे थे. इसी क्रम में लगभग दर्जन भर से अधिक ग्रामीणों ने वाहन को घेर लिया और मारपीट शुरू कर दी. हमले में टीम के कर्मी से टॉर्च, मोबाइल और एक हजार नकद की लूट हुई है. वहीं, मारपीट में आरक्षी सुनील कुमार यादव, शंकर कुमार यादव, नवल किशोर सिंह और शिवेंद्र चौधरी जख्मी हो गए.

खनन पदाधिकारी ने बताया कि ग्रामीणों के साथ मिलकर अवैध रूप से बालू का धंधा करने वाले लोगों द्वारा घटना को अंजाम दिया गया है. खड़गपुर थाना को घटना की सूचना दे दी गई है, लिखित रूप से भी शिकायत की जाएगी.

इधर, घटना को लेकर ग्रामीणों से जब जानकारी ली गई तो उन्होंने बताया कि ग्रामीणों को लगा कि पुलिस की वेश में कोई अन्य उगाही के उद्देश्य से वाहनों की जांच कर रहा है. इसलिए ऐसा व्यवहार किया गया. इस बाबत अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी राकेश कुमार ने बताया कि मामले में लिखित आवेदन नहीं मिला है केवल मौखिक जानकारी मिली है. आवेदन प्राप्त होने पर आवश्यक कार्रवाई की जाएगी. 

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More