पटना में अपराधी हुए बेलगाम: अपराधियों ने दिनदहाड़े हथियार के बल पर की करोड़ों की लूट, एक आरोपी को स्थानीय लोगों ने धर दबोचा

पटनाः बिहार की राजधानी पटना में अपराधी बेलगाम हो गए हैं. शुक्रवार की दोपहर पटना के कदमकुआं थाना क्षेत्र के बाकरगंज सर्राफा मंडी में एसएस ज्वेलर्स में हथियारबंद अपराधियों ने दिनदहाड़े लूट की घटना को अंजाम दिया. लूट के दौरान दुकान में घुसे हथियारबंद अपराधी दो झोले में भरकर सोने और चांदी के जेवरात लेकर फरार हो गये.

घटना के बाद आक्रोशित स्वर्ण दुकानदारों ने पूरे बाकरगंज इलाके को जाम कर दुकानें बंद कर दी है. इलाके के स्वर्ण व्यवसायी घटना में शामिल अपराधियों की गिरफ्तार होने तक पूरे सर्राफा मंडी को बंद रखने का ऐलान कर चुके हैं. वहीं मामले पर पटना पुलिस के आला अधिकारी कुछ भी बोलने से परहेज करते नजर आ रहे हैं.


मिली जानकारी के अनुसार पटना के सबसे बड़े सर्राफा मंडी बाकरगंज में दोपहर 2:30 बजे एसएस ज्वेलर्स हथियार के बल पर अपराधियों ने बड़ी लूट की घटना को अंजाम दिया है. व्यवसायी सूत्रों के अनुसार अपराधी करोड़ों रुपए के स्वर्ण और चांदी के आभूषण लूटकर फरार हो गये हैं. हालांकि कितने की लूट हुई है, इस पूरे मामले पर बोलने से एसपी स्तर के अधिकारी भी परहेज करते नजर आ रहे हैं.

वहीं इस पूरे घटना को अंजाम देने पहुंचे अपराधियों में से एक अपराधी को पकड़ने वाले स्थानीय आशुतोष कुमार बताते हैं कि वह आम दिनों की तरह अपने दुकान पर बैठे काम कर रहे थे. इसी दौरान इस घटना को अपराधियों ने अंजाम दिया और भागने लगे. इसी क्रम में उनकी नजर एक अपराधी पर पड़ी और उन्होंने साहस दिखाते हुए उस अपराधी को धर दबोचा. पकड़े गये अपराधी के पास एक देसी कट्टा था जो उस दौरान सड़क पर गिरा गया. फिलहाल उस अपराधी को गांधी मैदान थाने के हवाले कर दिया गया है और उसके पास से बरामद हथियार को भी पुलिस ने जब्त कर लिया है.

गौरतलब हो कि इस पूरी घटना के बाद बाकरगंज सर्राफ मंडी के स्वर्ण व्यवसायियों ने पटना के एसएसपी मानवजीत सिंह ढिल्लो पर आरोप लगाते हुए कहा इस घटना को अंजाम देने के 1 घंटे बाद तक स्वर्ण व्यवसायियों ने इस पूरे मामले की जानकारी टेलीफोन के जरिए एसएसपी को देने का प्रयास किया, इसके बावजूद एसएसपी ने फोन नहीं उठाया. घटना के बाद बाकरगंज सर्राफा मंडी में मौजूद स्वर्ण व्यवसायियों ने ऐलान किया है कि जब तक इस घटना को अंजाम देने वाले सभी अपराधियों की गिरफ्तारी और लूटे गए स्वर्ण आभूषण की बरामदगी नहीं हो जाती तब तक मंडी को बंद रखा जाएगा.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More