CM हाउस में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने वाले जालसाज को पटना पुलिस ने किया गिरफ्तार, खुद को बताता था रॉ और एनआईए का अधिकारी

पटना: पुलिस ने एक ऐसे जालसाज को गिरफ्तार किया है जो सीएम हाउस में नौकरी दिलवाने के नाम पर भी ठगी करने से बाज नहीं आया. पाटलिपुत्र थाने की पुलिस ने नेहरू नगर के आरडी टावर A-15 के पास से अनिल कुमार सिंह नामक इस जालसाज को गिरफ्तार किया है. जब पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार करने के बाद उसके घर की तलाशी दी ली तो हैरान करने वाली तस्वीर सामने आई.

आरोपित के पास से सीएम हाउस, डीजीपी, आईजीआईएमएस की 2-2 मुहर बरामद की गई. और तो और दरभंगा के एसएसपी बाबू राम के नाम का भी एक मुहर इसके पास से पुलिस ने बरामद किया. डिप्टी सीएम के नाम का विधान सभा सदस्य 227 धमाल गंज गया लिखा है. एक लेटर पैड भी बरामद किया गया.

पटना पुलिस के अनुसार आरोपी अनिल सिंह पर लखनऊ में एक लड़की को छत से फेंक कर हत्या कर देने का केस पहले से दर्ज है. अनिल द्वारा ठगे गए एक युवक विवेक कुमार ने बताया कि 1 साल पहले उसकी मुलाकात अनिल से हुई थी. उसने सीएम हाउस में नौकरी दिलाने के नाम पर 1 लाख नकद और एक लैपटॉप उपहार के तौर पर लिया. लेकिन, जब नौकरी नहीं मिली तो पीड़ित को शक हुआ और उससे अपने पैसे मांगने लगा. लेकिन, अनिल ने अपना मोबाइल इसके बाद से बंद कर लिया. आखिरकार जब उसकी मुलाकात अनिल सिंह से हुई तब दोनों आपस में उलझ पड़े. हंगामा देख मौके पर पुलिस पहुंची और जब पूछताछ शुरू की. तब सारी सच्चाई खुलकर सामने आ गई.

अनिल ने पीड़ित युवक विवेक को झांसे में लेने के लिए जूडिशल मजिस्ट्रेट का मुहर लगा एक फर्जी पहचान पत्र भी दिया था. इसे देकर उसने विवेक को सीएम हाउस में जाकर योगदान देने को कहा था. इसके बाद विवेक को एहसास हुआ कि उसके साथ ठगी हुई है.

पुलिस ने आरोपी अनिल का मोबाइल जब्त कर लिया है और अब उसके बैंक खातों की जांच करने में जुटी है. दरभंगा एसएसपी बाबूराम का मुहर् मिलने के बाद पुलिस को शक है कि यह जालसाज पुलिस महकमे में भी नौकरी दिलवाने के नाम पर बेरोजगारों से ठगी करता होगा.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More