गया में फाइनेंस कंपनी से 84 लाख की लूट: हथियार के बल पर चार लूटेरो ने 2 किलो सोना व 3.36 लाख कैश लुटे, जांच में जुटी पुलिस

बिहार के गया जिले के वजीरगंज में मंगलवार की शाम हथियारों से लैस बदमाशों ने आशीर्वाद माइक्रोफाइनेंस द्वारा संचालित गोल्ड लोन बैंक से दो किलो सोना सहित तीन लाख छत्तीस हजार रुपये नगद लूट लिए. इस घटना के दौरान आशीर्वाद गोल्ड लोन के ऑफिस में मैनेजर सहित चार कर्मचारी मौजूद थे.

मौजूद कर्मचारियों ने वजीरगंज पुलिस को बताया कि सबसे पहले दो लुटेरों ने ग्राहक बनकर कुछ देर इधर-उधर पूछताछ की. उसके बाद उनके दो अन्य साथी भी ऑफिस में घुस आए. उस समय संस्थान के मैनेजर बाहर गए हुए थे। उनके आते ही सभी को हथियार दिखाकर पहले मोबाइल छीन लिया. उसके बाद एक कोने में बैठा दिया। कर्मचारियों से लॉकर की चाबी मांगा. चाबी मिलते ही लॉकर खोलने का प्रयास किया.

लॉकर खोलने के क्रम में अलार्म बजने लगा, उसके बाद पीछे हट गए. फिर दूसरे बार प्रयास किया. अंत में एक कर्मचारी मनजीत के कनपटी पर पिस्टल लगाकर जान मारने की धमकी देते हुए कहा कि अगर जान बचाना चाहते हो तो अलार्म बंद करो. जबरन कर्मचारियों से अलार्म बंद करवा कर लुटेरे लॉकर में रखे गए करीब 3 लाख रूपए कैश एवं 2 किलो सोना लूट एक मोटरसाइकिल पश्चिम की ओर तो दूसरा पूरब की ओर भाग निकला. सभी लुटेरे चेहरे पर मास्क एवं हेलमेट लगाए हुए थे.

आशीर्वाद गोल्ड लोन के ऑफिस में चारों लुटेरे करीब 12 मिनट तक लूट मचाते रहे, लेकिन संबंधित मकान के नीचे मौजूद दर्जनों दुकानों एवं ग्राहकों को घटना की भनक तक नहीं लग सकी. जबकि लूट के दरमियान अलार्म भी बजा था. अंत में रुपए एवं सोना लूटने के बाद सभी कर्मचारियों को लॉकर रूम के अंदर ही बंद कर दिया एवं मोटरसाइकिल पर भाग निकले. लॉकर रूम से कर्मचारियों ने आवाज देकर बाहरी लोगों को घटना की जानकारी दी. इसके बाद स्थानीय पुलिस को भी इसकी सूचना दी.

सूचना मिलते ही थानाध्यक्ष राम इकबाल प्रसाद यादव एवं डीएसपी घूरन मंडल ने घटनास्थल पर पहुंचकर मौजूद कर्मचारियों से मामले की पूछताछ की. चंदन मार्केट में लगाए गए CCTV कैमरे पर पूरी गतिविधि को देखा. इस घटना की जानकारी मिलते ही क्षेत्र में सनसनी फैल गई है. मौके पर एसएसपी व सिटी एसपी भी पहुंचे. वे मामले की तहकीकात कर रहे हैं.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More