नालंदा: संपत्ति की लालच में कलयुगी बेटो ने मां की गला घोंटकर की हत्या, दोनों बहुएं घर से हुई फरार

नालंदा जिले के लहेरी थाना क्षेत्र के भराव पर एक बेटे ने अपनी मां का रस्सी से गला घोंटकर हत्या कर दी. मृतक की पहचान गंगा महतो की पत्नी रामसखी देवी (70 वर्ष) के रूप में की गई है. हत्या को आत्महत्या में तब्दील करने के लिए घर के सबसे ऊपरी मंजिल पर मां को कपड़ा सुखाने वाली रस्सी के सहारे लटका दिया था.

रामसखी के दामाद आनंदी कुमार ने बताया कि संपत्ति विवाद में बेटों दयानंद प्रसाद और संजय कुमार ने मां की रस्सी के सहारे गला घोंट कर हत्या कर दी और उसे आत्महत्या में तब्दील करने के लिए छत पर हुक के सहारे टांग दिया. जबकि, छत और फर्श की दूरी इतनी नहीं है कि वहां कोई फांसी लगा सके.

घटना के बाद घर से दोनों बहुएं फरार है. थानाध्यक्ष सुबोध कुमार ने बताया कि आवेदन मिलने के बाद पुलिस कार्रवाई करेगी. यह हत्या है या आत्महत्या, पोस्टमाॅर्टम रिपोर्ट आने के बाद ही पता चलेगा.

दोनों बेटे अक्सर मां और पिता के साथ मारपीट करते थे। रामसखी के दो बेटे और तीन बेटियां हैं. जब भी बेटियां अपनी मां और बाप को देखने आती थी, उनके साथ भी झगड़ा करते थे. इतना ही नहीं 3 महीने पहले भी दयानंद प्रसाद और संजय कुमार ने माता-पिता के साथ मारपीट की थी. इस मामले में बेटियों और दामाद ने स्थानीय थाना में आवेदन भी दिया था, जिसके बाद दोनों बेटों ने मां और पिता से माफी मांगी और भविष्य में मारपीट न करने की बात कबूली थी. इसके बाद थाने से आवेदन वापस ले ली गई थी.

दोनों बेटों को शक था कि मां-बाप की सेवा करने के कारण कहीं उसके माता-पिता संपत्ति बंटवारे में बेटियों को उसका हक ना दे दें. मंगलवार दोपहर बाद मां छत पर कुछ काम करने आई थी. तभी ताक लगाए बेटों ने रस्सी से गला घोंट कर हत्या कर दी. मां के शव को फंदे से हटा शव को नीचे रखकर दोनों बेटे शोर-शराबा करने लगे. मौके पर पहुंची बेटियों ने हत्या का आरोप दोनों भाइयों पर लगाया है.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More