बिहार: शादी के दो महीने बाद ही पति-पत्नी ने फांसी लगाकर की खुदकुशी, पुलिस जांच में जुटी

बक्सर जिले के नया बाजार में पति-पत्नी ने एक साथ फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है. मौके से कोई सुसाइट नोट भी बरामद नहीं हुआ. बताया जा रहा है कि इनकी शादी महज दो माह पहले हुई थी. यह खबर आग की तरफ शहर के नया बाजार में फैल गई. देखते ही देखते घर के आसपास भीड़ जमा हो गई. घटना नगर थाना क्षेत्र के नयाबाजार वार्ड नंबर छह की है.

 खबर मिलते ही नगर थाना और महिला थाना दोनों की टीम मौके पर पहुंची. लोगों से पूछताछ की गई. लेकिन, किसी ने कुछ भी ऐसा नहीं कहा. पति-पत्नी की मौत से पूरा मुहल्ला हतप्रभ है.

घटना के संदर्भ में बताया गया कि नोनिया मोहल्ला के रहने वाले उपेंद्र नोनिया की शादी पिछले 26 मई को दिनारा थाना क्षेत्र की सोनामति कुमारी से हुई थी. शादी के बाद से दोनों खुशी-खुशी अपने घर में रह रहे थे.

शनिवार की सुबह तकरीबन 10 बजे उपेंद्र की मां धान रोपनी कराने के लिए चली गई थी. शाम 5 बजे जब वह घर लौटी तो दरवाजा अंदर से बंद पाया. काफी खटखटाने पर भी जब दरवाजा नहीं खुला तो स्थानीय लोगों ने घर की छत पर लगा एस्बेसडस हटाकर झांका. लोगों ने पाया कि पति-पत्नी दोनों छत की कुंडी से फांसी लगाकर झूल चुके थे. यह नजारा देखते ही कोहराम मच गया. लोगों ने किसी तरह दरवाजा तोड़कर घर में प्रवेश किया और फिर पुलिस को इस बात की सूचना दी गई.

नगर थाने की पुलिस ने दोनों शव फंदे से उतारकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. काफी देर तक दरवाजा नहीं खुला और कमरे के अंदर से आवाज नहीं आई तो शक हुआ. इसके बाद खिड़की से देखने पर पता चला कि पत्नी का शव बेड पर पड़ा था तो वहीं पति फंदे से लटका हुआ था. आशंका जताई जा रही है कि पति ने पहले पत्नी की हत्या की होगी उसके बाद उसकने खुद भी अपनी जान दे दी.

मृतक उपेंद्र चौहान के बड़े भाई के अनुसार पति-पत्नी के बीच किसी तरह का कोई विवाद नहीं था. घरवालों से भी उनकी कोई अनबन नहीं थी. घटना की जानकारी मिलने के बाद आसपास के क्षेत्रों में कई तरह की चर्चा हो रही है क्योंकि उपेंद्र और सोनामती की शादी सिर्फ दो महीने पहले ही हुई थी. घटना के पीछे क्या वजह हो सकती है यह पुलिस की जांच के बाद पता चल सकेगा.

शव का पोस्टमार्टम कर रहे सदर अस्पताल के चिकित्सक अनिल सिंह ने कहा कि प्रथम दृष्टया देखने से यही लग रहा है कि दोनों ने फंदे से लटककर आत्महत्या की है. वहीं पुलिस के मुताबिक मृतक महिला के परिजनों ने भी फोन पर बातचीत के दौरान ससुराल वालों पर किसी तरह का आरोप नहीं लगाया है. इसीलिए पुलिस भी इसे आत्महत्या का एंगल मान कर चल रही है. हालांकि दोनों ही परिवार गरीब तबके से हैं. उपेंद्र चौहान मजदूरी करता था और उसकी किसी से भी अनबन नहीं थी. फिलहाल पुलिस अपने स्तर से मामले की जांच कर रही है.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More