हजारीबाग में एक ही परिवार के तीन लोगों की जलकर हुई मौत, हत्या की आशंका

झारखंड के हजारीबाग में एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत से हड़कंप मच गया. मामला लोहसिघना थाना इलाके ओकनी मुहल्ले का है.कमरे में आग लगने से पति-पत्नी और उनके 6 साल के बेटे की मौत हो गई.  मृतकों में मुन्ना विश्वकर्मा, पत्नी सोनम कुमारी व पुत्र आयुष शामिल हैं. घटना की सूचना पाकर लोहसिंघना पुलिस ने तीनों जले शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए एचएमसीएच भेज दिया है. मृतक के परिजनों ने अज्ञात लोगों द्वारा इनकी हत्या की आशंका जाहिर की है.

मृतक मुन्ना विश्वकर्मा के परिवार वालों ने बताया कि मुन्ना, सोनम और आयुष एक ही कमरे में सो रहे थे, जबकि दोनों पुत्रियां अलग कमरे में सो रही थीं. जिस कमरे में मुन्ना, सोनम व आयुष सो रहे थे, इसी कमरे में आग लग गई. कमरा का एक दरवाजा आधा जल गया है, जिस कमरे में तीनों सो रहे थे.

दोनों बच्चियों ने बताया कि बुधवार की रात लगभग 2 बजे अचानक कमरे से धुआं निकल रहा था. धुआं देखकर दोनों की नींद टूटी. उन्होंने तुरंत इस बात की जानकारी आसपास के लोगों को दी. लोग पहुंचे और पुलिस को सूचना दी गई. पुलिस आई तो देखा कि तीनों के शव कमरे में पड़े हैं. मां और बेटे की लाश फर्श पर थी, जबकि सरोज की लाश बेड पर थी. 

मृतक के परिजनों के अनुसार मुन्ना, सोनम व आयुष की अज्ञात लोगों द्वारा हत्या की आशंका जाहिर की गयी है. घर का दरवाजा बाहर से लॉक था. कुंडी एक लोहा में फंसाया हुआ था. किसी ने कपड़े में आग लगाकर कमरे के अंदर घुसा दिया, जिसके कारण कमरे में आग लग गई. बाहर से दरवाजा बंद होने के कारण तीनों सदस्य जल गये और दम तोड़ दिया.

इस घटना की सूचना मिलते ही लोहसिंघना पुलिस घटना स्थल पर पहुंची. जले शव को कब्जे में कर पोस्टमार्टम के लिए एचएमसीएच भेज दिया. थाना प्रभारी निशि कुमारी ने बताया कि घर मे शॉर्ट सर्किट होने के कारण कमरे में आग लगने की आशंका है. पुलिस जांच करने में जुटी है. मामले के अनुसंधान के बाद ही घटना की सत्यता सामने आएगी. मृतकों के परिजनों द्वारा लिखित आवेदन पर मामला दर्ज किया जाएगा.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More