नालंदा: भारी बारिश के कारण पंचाने नदी समेत कई नदियां खतरे के निशान से ऊपर, निचले इलाकों में घुसा पानी

नालंदा: पिछले 10 दिनों से लगातार हो रही भारी बारिश के कारण पंचाने नदी समेत कई नदियां खतरे के निशान से ऊपर बहने लगी हैं. बिहारशरीफ शहर के कई इलाके भी जलमग्न हो गए हैं. पंचाने नदी का जलस्तर बढ़ने से आसपास के इलाके के लोगों में खौफ का माहौल देखा जा रहा है.

नदी का जलस्तर बढ़ने के चलते पानी अब निचले इलाकों में घुसने लगा है, जिस कारण नदी के तटीय इलाके में रहने वाले लोग खौफ के साए में जीने लगे हैं. बिहारशरीफ शहर के सोहसराय थानान्तर्गत सलेमपुर, हबीपुरा, सोहसराय में पंचाने नदी का पानी सड़कों पर पहुंच गया है. जिस कारण लोगों को आने जाने में परेशानी हो रही है.

लोगों ने कहा कि महंगाई और लॉकडाउन ने पहले से आम आदमी की कमर तोड़ रखी थी. अब बाढ़ ने दस्तक दे दी है. यही आलम रहा तो जीना मुहाल हो जाएगा. वहीं, पंचाने नदी का पानी सड़कों पर आ जाने को लेकर लोगों ने बताया कि जलालपुर, सोहसराय, सोहडीह, सलेमपुर इलाकों में बाढ़ का पानी तेजी से बढ़ने लगा है. आने वाले समय में शहर के कई मोहल्ले बाढ़ की चपेट में आ सकते हैं.

नदियों के बढ़ते जलस्तर को देखते हुए नालंदा जिलाधिकारी योगेंद्र सिंह ने कहा कि जिला प्रशासन संभावित बाढ़ के खतरे पर पूरी तरह नजर बनाये हुये है. लोगों तक हरसंभव सहायता पहुंचाने का काम किया जा रहा है.

बता दें कि बिहार में मानसून ने अभी दस्तक ही दी है. लेकिन कुछ दिनों से हो रही बारिश से बिहार के कई जिलों में बाढ़ जैसे हालात हैं. कमला बलान, गंडक और बागमती ने उफान मारना शुरू कर दिया है. कोसी और गंगा का जल स्तर भी धीरे-धीरे बढ़ना शुरू हो चुका है. बिहार में बाढ़ को लेकर प्राशासन पूरी तरह से एहतियात बरत रहा है. छोटी-बड़ी सभी नदियों के जलस्तर का बारिकी से मुआयाना कर रहा है. ताकि समय रहते लोगों को आगाह किया जा सके और जान माल की क्षति होने से बचाया जा सके.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More