गया में दिनदहाड़े मर्डर: शराब पीने से रोका तो नशे में धुत्त CRPF जवान ने गला दबाकर पत्नी को मौत के घाट उतारा

गया के मुफस्सिल थाना क्षेत्र स्थित सूर्यनगर कॉलोनी में एक CRPF जवान को पत्नी ने शराब पीने से रोका तो पत्नी का गला दबाकर मार डाला. नशे में धुत्त जवान से बचने के लिए पत्नी ने नाखून और दांत से कई वार किए, लेकिन उसने उसका गला नहीं छोड़ा. दम घुटने से उसकी जान चली गई. लोगों को इस बात की तब जानकारी लगी, जब जमीन पर मां को बेसुध पड़ा देख बच्चे रोने लगे और घर के बाहर निकल आए.

आस-पड़ोस के लोगों ने अंदर जाकर देखा तो महिला मृत पड़ी थी. इसके बाद सूचना पुलिस को दी गई। मृतक की पहचान दिलीप कुमार की पत्नी सारिका कुमारी (36 साल) के रूप में की गई है. हत्या के बाद इलाके में सनसनी फैल गई है. वहीं, पुलिस ने शराबी पति को गिरफ्तार कर लिया है.

स्थानीय लोगों ने बताया कि सारिका कुमारी बंधुआ मध्य विद्यालय में नियोजित शिक्षिका थी. वह कॉलोनी में काफी प्रतिष्ठित थी. CRPF जवान दिलीप कुमार 3 दिन पहले ही असम से छुट्‌टी पर आया था. शुक्रवार दोपहर वह कहीं से शराब से पीकर अपने घर में आया. घर में उस वक्त दो बच्चे और सारिका कुमारी थी. सारिका ने जब अपने पति को नशे में बुरी तरह से धुत्त देखा तो पहले उसने बच्चों को दूसरे कमरे में जाने को कहा। इसके बाद बच्चे दूसरे कमरे चले गए.

सारिका ने बच्चों के भविष्य का हवाला देते हुए जब शराब पीने का विरोध किया तो दिलीप बुरी तरह भड़क उठा। दोनों के बीच जमकर बहस होने लगी और देखते ही देखते बहस हाथापाई तक पहुंच गई। इसी बीच दिलीप ने उसका गला दबा दिया। दम घुटने से सारिका की मौत हो गई।

सारिका को बेसुध पड़ा देख उसके बच्चे रोते- बिलखते हुए घर से बाहर की ओर निकल गए. बच्चों के रोने की आवाज सुन आसपास के लोग घर पहुंचे तो वहां का मंजर देख सकते में पड़ गए. घर का सारा सामान अस्त-व्यस्त पड़ा था और सारिका मृत पड़ी थी. इसी बीच लोगों ने घटना की सूचना मुफस्सिल पुलिस को दे दी.

मौके पर पहुंची पुलिस ने सबसे पहले CRPF जवान को अपने कब्जे में लेने की कोशिश की तो वह उन पर धौंस दिखाने लगा. इस पर गुस्साई पुलिस ने उसके साथ सख्ती बरतते हुए गिरफ्तार कर लिया.

पुलिस के अनुसार, गिरफ्तार जवान के सिर पर नाखून के खरोंच के कई निशान हैं. महिला ने बचने के लिए नाखून से वार किया, लेकिन बच ना सकी. मोहल्ले वालों ने बताया कि सारिका ने अपनी मेहनत के बल पर इस कॉलोनी में घर बनाया था. सारिका के ससुर BMP- 3 से सेवानिवृत्त हुए हैं. वह बहू के साथ ही यहीं रहते हैं. सारिका के मायके वाले फिलहाल उसके दोनों बच्चों को अपने साथ घर ले गए हैं.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More