नालंदा: बारातियों द्वारा दुर्व्यवहार किए जाने पर दुल्हन ने शादी से किया इनकार, दूल्हे को कुंवारा ही अपने घर पड़ा लौटना

बिहार के नालंदा जिले से खबर आ रही है जहां दुल्हन ने शादी से इनकार कर दिया और दूल्हे को कुंवारा ही अपने घर लौटना पड़ा.मिली खबर के अनुसार जिले के नूरसराय थाना क्षेत्र के दहपर गांव निवासी देवनंदन पासवान के पुत्र दीपक कुमार की बारात चंडी थाना क्षेत्र के नवादा गांव गयी थी.

बैड बाजों के साथ बारात दुल्हन के घर पहुंची जिसके बाद वरमाला भी हुआ लेकिन इस दौरान दूल्हे का बड़ा भाई, दोस्त के साथ अन्य संबंधी दुल्हन संग फोटो खिंचाने को आमादा हो गए. इस दौरान उन्होंने अपनी मर्यादा की सीमा को भूल गये. दोस्तों के अलावा दूल्हे के बड़े भाई ने दुल्हन के हाथ को अपने हाथ में लेकर फोटो शूट करवाना चाहा, जिसपर दुल्हन ने आपत्ति जतायी.

दूल्हन की हाथ को पकड़कर फोटो शूट कराने पर वधू पक्ष के लोगों ने विरोध किया जो बारातियों को नागवार गुजरा. फिर क्या था वरमाला मंच पर ही जमकर मारपीट शुरू हो गयी. दूल्हे के बड़े भाई और उसके दोस्तों ने दुल्हन की मां, भाई और बहनोई की पिटाई कर दी.

इसी बात पर बवाल बढ़ गया. मंच पर ही मारपीट शुरू हो गई. इस दौरान अफरा-तफरी मच गई. वरमाला से आगे की रस्म रोक दी गई.

इस बात से नाराज दुल्हन ने शादी से इनकार कर दिया. दुल्हन का कहना था कि जब अभी यह लक्षण है तो ससुराल जाने के बाद उसके साथ किस तरह का व्यवहार किया जाएगा. इस बात को लेकर वरमाला स्टेज पर ही दुल्हन ने शादी से मना कर दिया.शादी के लिए वर पक्ष गिरगिड़ाता रहा लेकिन लड़की वालों ने उनकी एक ना सुनी जिसके बाद दूल्हे को कुंवारा ही घर लौटना पड़ा.

घरवालों के विरोध को देखते हुए दूल्हे समेत बारातियों को भागकर घर से एक किलोमीटर दूर रुखाई रेलवे हाल्ट पर शरण लेनी पड़ी.  बवाल के बाद वधू पक्ष वालों ने दहेज में दी गयी राशि व अन्य सामानों की मांग शुरु कर दी और बारात में आयी एक कार व बाइक को जब्त कर लिया.

जिसके बाद वाहन का मालिक थाना पहुंचे और शिकायत दर्ज करायी. थानाध्यक्ष ने बताया की जबरन बारात वाहन को रोके रखने की शिकायत मिली है. मामले की जांच में यह पाया गया कि वरमाला के दौरान वर-वधू के परिवार वालों के बीच विवाद हुआ था. फिलहाल पुलिस आगे की कार्रवाई में जुटी है.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More