ब्‍लैक और व्‍हाइट फंगस के बाद देश में यलो फंगस ने दी दस्तक, गाजियाबाद में मिला पहला मरीज

कोरोना की दूसरी लहर के बीच देश में कई नई समस्याएं सामने आ रही हैं. अभी ब्लैक फंगस से ही सामना हो रहा था कि अब उत्तर प्रदेश के गाज़ियाबाद से अजीब मामला सामने आया है. यहां एक मरीज़ में ब्लैक फंगस के साथ-साथ व्हाइट फंगस और यलो फंगस भी मिला है. 

यलो फंगस अभी तक मरीजों मे मिले ब्‍लैक और व्‍हाइट फंगस से ज्‍यादा खतरनाक बताया जा रहा है. बता दें कि गाजियाबाद के जिस मरीज में यलो फंगस पाया गया है, उसकी उम्र 34 साल है और वह कोरोना से संक्रमित रह चुका है. इसके साथ ही वह डाइबिटीज से भी पीड़ित है.

यलो फंगस ब्‍लैक और व्‍हाइट फंगस से ज्‍यादा खतरनाक है और घातक बीमारियों में से एक है. यलो फंगस पहले शरीर को अंदर से कमजोर करता है.

येलो फंगस के लक्षण

  • नाक का बंद होना
  • शरीर के अंगों का सुन्न होना
  • शरीर में टूटन होना और दर्द होना
  • शरीर में अत्यधिक कमजोरी होना
  • हार्ट रेट का बढ़ जाना
  • शरीर में घावों से मवाद बहना
  • शरीर कुपोषित सा दिखने लगना

यलो फंगस से पीड़ित मरीज को सुस्‍ती लगना, कम भूख लगना या फिर बिल्‍कुल भूख खत्‍म होने की शिकायत रहती है. फंगस का असर जैसे जैसे बढ़ता है मरीज का वजन तेजी से कम होने लगता है और ये काफी घातक हो जाता है. अगर इस दौरान किसी को घाव है तो उसमें से मवाद का रिसाव होने लगता है और घाव बहुत धीमी गति से ठीक होता है. इस दौरान मरीज की आंखें धंस जाती हैं और कई अंग काम करना बंद कर देते हैं.

डॉक्टर ने बताया कि अभी तक यह येलो फंगस छिपकली और गिरगिट जैसे जीवों में पाया जाता था. इतना ही नहीं, यह जिस रेपटाइल को यह फंगस होता है वह जिंदा नहीं बचता इसलिए इसे बेहद खतरनाक और जानलेवा माना जाता है. पहली बार किसी इंसान में यह फंगस मिला है.

डॉक्टर के अनुसार येलो फंगस गंदगी के कारण होता है.  इसलिए अपने घर के आस-पास साफ-सफाई रखें. सफाई और स्‍वच्‍छता का ध्‍यान रखकर इस बैक्‍टीरिया या फंगस को दूर किया जा सकता है. पुराने खाद्य पदार्थों को जल्द से जल्द हटाने से इसके खतरे से बचा जा सकता है. डॉक्टरों का अनुमान है कि कोरोना के कारण अब इंसानों की इम्युनिटी कमजोर हो रही है इसलिए यह फंगस उन्हें चपेट में ले रहा है.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More