नालंदा: ऑक्सीजन देने के नाम पर ठगी करने के 12 आरोपियों को दिल्ली पुलिस ने नालंदा से किया गिरफ्तार

नालंदा:  कोरोना महामारी के इस बुरे वक्त में ऑक्सीजन उपलब्ध कराने के नाम पर लोगों से ठगी कर रहे 12 आरोपियों को दिल्ली की साइबर सेल ने नालंदा से गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार किए गए 4 आरोपियों को दिल्ली पुलिस ने ट्रांजिट रिमांड पर अपने साथ दिल्ली ले गई. 

बता दे कि दिल्ली में ठगों ने ऑक्सीजन का झांसा देकर कोरोना मरीज के परिजनों से लाखों की ठगी की है. दिल्ली में इस तरह की ठगी का केस दर्ज हुआ था. जिसके बाद दिल्ली साइबर सेल की टीम इन ठगों की गिरफ्तारी के लिए नालंदा पहुंची.

दिल्ली और नालंदा पुलिस ने की छापेमारी:  यह मामला नालंदा के कतरीसराय थाना क्षेत्र का है. इस बारे में दिल्ली पुलिस के साइबर सेल ने नालंदा पुलिस से संपर्क किया था. दिल्ली पुलिस ने कतरीसराय थाने को बताया कि उनके इलाके में ऑक्सीजन उपलब्ध कराने के नाम पर एक गैंग सक्रिय है. इसके बाद दिल्ली और नालंदा पुलिस की टीम ने साझा अभियान के तहत छापेमारी की और कुल 12 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया.

गिरफ्तार किए गए लोगों के पास से पुलिस ने लैपटॉप, मोबाइल, सिम कार्ड, नगदी व कई आपत्तिजनक सामान जब्त किए हैं. दिल्ली पुलिस इनमें से चार आरोपियों को ट्रांजिट रिमांड पर लेकर दिल्ली लौट गई जबकि अन्य आरोपियों को कतरीसराय थाने में केस दर्ज कर उन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है. 

ये हैं गिरफ्तार: ठग पुलिस रिकॉर्ड के मुताबिक, मानपुर थाना क्षेत्र के चंदन कुमार, सन्नी कुमार, कतरीसराय थाना क्षेत्र के सैदी गांव के रहनेवाले सोनू उर्फ अनमोल, छाच्छु बीघा के रहनेवाले सौरभ कुमार, गुड्डू चौधरी, राम मोहित चौधरी, भोला मांझी, प्रमोद कुमार, बिहार थाना क्षेत्र के मिथिलेश कुमार, महलपर के श्रवण माली, शेखपुरा जिले के शेखोपुर के रहनेवाले पंकज कुमार और दीपनगर थाना क्षेत्र के विजनपर के रहनेवाले दीपक कुमार को गिरफ्तार किया गया है. 

चार आरोपियों को दिल्ली पुलिस ले गई साथ:  बिहार थाना क्षेत्र के मिथिलेश कुमार, शेखपुरा जिले के शेखोपुरसराय के रहनेवाले पंकज कुमार, दीपनगर के विजवनपर के रहने वाले दीपक कुमार और बिहार थाना क्षेत्र के महलपर के श्रवण  माली को दिल्ली पुलिस अपने साथ ट्रांजिट रिमांड पर ले गई है.

नालंदा जिला के पुलिस अधीक्षक हरि प्रसाथ एस ने भी इसकी पुष्टि की है. नालंदा एसपी ने बताया कि ऑक्सीजन को लेकर की गयी ठगी का मामला दिल्ली में भी दर्ज हुआ था. दिल्ली पुलिस ने नालंदा पुलिस के सहयोग से यह कार्रवाई की. सदर डीएसपी डॉ शिब्ली नोमानी ने स्थानीय पुलिस का नेतृत्व किया और दिल्ली पुलिस के साथ समन्वय स्थापित कर उन्हें अनुसंधान में मदद की. नालंदा पुलिस की टीम में नगर थानाध्यक्ष दीपक कुमार, कतरीसराय थानाध्यक्ष अमरेश सिंह समेत कई अधिकारी शामिल रहे.

 इस दौरान एसपी हरि प्रसाद एस ने बताया कि दिल्ली पुलिस लगातार कई जिलों में कार्रवाई कर रही है. इसी दौरान स्थानीय पुलिस की मदद से कार्रवाई करते हुए 12 शातिर ठगों को गिरफ्तार किया गया है. शातिर ठग सोशल मीडिया पर ऑक्सीजन उपलब्ध होने की पोस्ट कर जरूरतमन्दों से मोटी रकम वसूलते थे. दिल्ली पुलिस कई दिनों से इनकी तलाश कर रही थी. उन्होंने कहा कि छापेमारी अभियान में नालंदा पुलिस टीम भी शामिल थी और यह अभियान आगे भी जारी रहेगा.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More