बिहार में आज से 25 मई तक बढ़ा लॉकडाउन: नई पाबंदियां हुई लागू, अब शादी में 20 लोग हो सकेंगे शामिल

बिहार में कोरोनावायरस संक्रमण की रोकथाम के लिए लागू लॉकडाउन-1 के बाद अब रविवार से 25 मई तक लॉकडाउन-2 लागू हो गया है.16 मई यानी आज से लॉकडाउन की नई गाइडलाइन्स जारी की गई है. इसमें कई नियमों में भी बदलाव किया गया है.

अब शादी समारोह में सिर्फ 20 लोग ही शामिल हो सकेंगे. शादी में बैंड-बाजा की इजाजत नहीं होगी. सभी तरह के सामाजिक, राजनीतिक, मनोरंजन, खेलकूद और धार्मिक आयोजनों पर भी पहले की तरह प्रतिबंध लागू रहेगा. बाकी सभी पाबंदियां पहले की तरह लागू रहेंगी.

वहीं शहरी और ग्रामीण क्षेत्र में दुकान खोलने के समय में भी बदलाव किया गया है। लॉकडाउन की नई गाइडलाइन्स के मुताबिक, शहरी क्षेत्र में सब्जी, अंडे, मांस, मछली की दुकानें सुबह 10 बजे तक ही खुलेंगी। वहीं ग्रामीण इलाकों में दुकानें दिन में 12 बजे तक खुलेंगी। ग्रामीण क्षेत्र में सुबह 8 बजे से 12 बजे तक दुकान खुलेंगी। आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सभी सरकारी कार्यालय बंद रहेंगे.

किसानों के लिए बीज एवं खाद की दुकानें सोमवार और गुरुवार को सुबह 6 बजे से 10 बजे तक खुलेंगी। जबकि लीची और आम की पेटी बनाने के लिए सीमित संख्या में आरा मिलों को खोलने की अनुमति दी गई है.

नई गाइडलाइन के अनुसार ये पाबंदियां जारी रहेंगी…

  • सभी सरकारी-प्राइवेट ऑफिस 25 मई तक बंद रहेंगे. इनमें सिर्फ जरूरी सेवाओं से संबंधित कार्यालयों को ही खोलने की अनुमति है.
  • 25 मई तक सड़क पर सभी प्रकार के वाहनों का परिचालन बंद रहेगा. अनावश्यक पैदल निकलना भी प्रतिबंधित.
  • सभी स्कूल/कॉलेज/कोचिंग संस्थान/ ट्रेनिंग एवं अन्य शैक्षणिक संस्थान बंद रहेंगे.
  • सरकारी स्कूल/कॉलेजों में किसी तरह की परीक्षा नहीं होगी.
  • सभी धार्मिक स्थल, सामाजिक/राजनीतिक/मनोरंजन/ खेल-कूद/ शैक्षणिक/ सांस्कृतिक एवं धार्मिक आयोजन/ समारोह.
  • सिनेमा हॉल, शॉपिंग मॉल, क्लब, स्विमिंग पूल, स्टेडियम, जिम, पार्क.
  • सार्वजनिक स्थलों पर किसी भी प्रकार के सरकारी एवं निजी आयोजन पर रोक.

लॉकडाउन में इनको मिलेगी छूट…

  • अस्पताल एवं अन्य संबंधित स्वास्थ्य प्रतिष्ठान (पशु स्वास्थ्य सहित). दवा दुकानें, मेडिकल लैब, नर्सिंग होम, एम्बुलेंस सेवाएं.
  • ठेले पर घूमकर फल-सब्जी बेचने वाले (सिटी में सुबह 6 से 10 बजे तक, गांवों में सुबह 8 से 12 बजे तक).
  • रेस्टोरेंट एवं खाने की दुकानें केवल होम डिलीवरी के लिए सुबह 9 बजे से रात 9 बजे तक। NH पर स्थित ढाबे take home के आधार पर.
  • ग्रामीण क्षेत्रों में मनरेगा तथा शहरी क्षेत्रों में शहरी रोजगार योजना के अन्तर्गत किए जाने वाले कार्य.

जरूरी सरकारी-निजी सेवाओं में किनको छूट…

  • जिला प्रशासन, पुलिस, सिविल डिफेंस, विद्युत आपूर्ति, जलापूर्ति, स्वच्छता, फायरब्रिगेड, स्वास्थ्य, आपदा प्रबंधन, दूरसंचार, डाक विभाग से संबंधित कार्यालय.
  • बैंकिंग, बीमा, एवं ATM से जुड़ी सेवाएं, औद्योगिक एवं विनिर्माण कार्य से संबंधित प्रतिष्ठान। सभी प्रकार के निर्माण कार्य (Construction Works).
  • E-commerce से जुड़ी सारी गतिविधियां, कृषि एवं इससे जुड़े कार्य। कोल्ड स्टोरेज एवं वेयर हाउसिंग सेवाएं.
  • प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया, टेलीकम्यूनिकेशन, इंटरनेट सेवाएं, ब्रॉडकास्टिंग एवं केबल सेवाएं.
  • पेट्रोल पम्प, LPG, पेट्रोलियम से संबंधित खुदरा एवं भंडारण प्रतिष्ठान। निजी सुरक्षा सेवाएं.
  • आवश्यक खाद्य सामग्री तथा फल एवं सब्जी/मांस-मछली/ दूध/PDS दुकानें (ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में अलग-अलग समय पर)

सड़क पर निकलने की इनको छूट…

  • रेल-हवाई सफर के लिए जा सकेंगे.
  • आवश्यक कार्यों में शामिल सेवाओं के कर्मी निजी वाहनों से जा सकेंगे.
  • स्वास्थ्य सेवा से जुड़े वाहन चल सकेंगे.
  • आवश्यक सेवा से जुड़े सरकारी वाहन.
  • वैसे वाहन जिन्हें जिला प्रशासन से पास प्राप्त है.
  • इंटरस्टेट यात्रा करने वाले वाहन आ-जा सकेंगे.
You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More