बिहार: प्राइवेट नर्सिंग होम की शर्मनाक करतूत, एडवांस पैसा नहीं देने पर एडमिट मरीज को सड़क पर फेंका

गया में कोरोना संक्रमण के दौरान इलाज के नाम पर चारों ओर लूट मची है. पैसे के आगे नर्सिंग होम वालों ने इंसानियत को ताक पर रख दिया है. जिले के नक्सल प्रभावित इलाका फतेहपुर प्रखंड के ब्लॉक कार्यालय में एक नर्सिंग होम ने एडवांस पैसे नहीं मिलने पर भर्ती मरीज को न केवल सड़क पर मरने को छोड़ दिया, बल्कि उसके परिजनों के साथ मारपीट भी की.

मामला जब थाना पुलिस तक पहुंचा तो पुलिस पीड़ित परिवार को हड़काने में जुट गई. लेकिन मामला जब और गरमाया तो प्रशासन ने नर्सिंग होम को सील कर दिया.

मातासो के रहने वाले सुरेन मांझी को उनके परिजनों ने बीते शुक्रवार को आदर्श चिकित्सा सेवा सदन में भर्ती कराया था. सुरेन को सांस लेने में तकलीफ थी. लगातर चार दिनों तक इलाज करने के बाद नर्सिंग होम के संचालकों द्वारा सुरेन के परिजनों द्वारा 90 हजार रुपए की मांग की गई. जबकि, मरीज के परिजनों ने 70000 रुपए पहले ही भुगतान कर दिए थे. बाकी रुपए का भुगतान नहीं करने के कारण सोमवार दोपहर मरीज को नर्सिंग होम से बाहर निकाल कर सड़क पर मरने के लिए छोड़ दिया गया. इस बीच सुरने के परिजन शेष पैसे का इंतजाम कर वापस नर्सिंग होम पहुंचे तो अपने मरीज को सड़क पर देख कर बौखला गए. बीमार मरीज को सड़क पर छोड़े जाने पर सुरेन के परिजनों व नर्सिंग होम के संचालकों के बीच बहस होने लगी. देखते ही देखते दोनों के बीच मारपीट होने लगी.

सुरेन के परिजनों का कहना है कि मारपीट की स्थिति हुई तो वे घबरा कर फतेहपुर थाने पहुंच गए. वहां मदद की जगह पर उन्हें न केवल बंद कर दिया गया बल्कि पुलिस ने हड़काया भी. पुलिस के इस तेवर को देख सुरेन के अन्य परिजनों ने घटना की सूचना जिले के वरीय पुलिस अधिकारी एवं प्रभारी जिला अधिकारी को दी.

इसके बाद स्थानीय प्रशासन के साथ सुरेन के परिजनों को बंद कर हड़काने वाली पुलिस भी हरकत में आ गई. CO विजय कुमार, CHC प्रभारी डॉ अशोक कुमार थानाध्यक्ष संजय कुमार की मौजूदगी में नर्सिंग होम को सील कर दिया गया.

नर्सिंग होम में हुई मारपीट में पप्पू मांझी व विरेन्द्र मांझी को चोटें आई हैं. घटना को लेकर दोनों ओर से फतेहपुर थाने में एक दूसरे के खिलाफ आवेदन भी दिया गया है. फतेहपुर थानाध्यक्ष संजय कुमार ने बताया कि नर्सिंग होम में घटित घटना की पुलिस जांच कर रही है. वहीं नर्सिंग होम संचालक को पुलिस ने फिलहाल हिरासत में ले लिया है. फिलहाल मरीज को CHC फतेहपुर में भर्ती कराया गया है.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More