हिमाचल में भारी बारिश ने मचाई तबाही: चंबा में बादल फटने से भारी नुकसान, वाहन व खेत बहे, घरों में घुसा मलबा और पानी

हिमाचल प्रदेश में भारी बारिश ने जमकर कहर बरपाया है. सोमवार दोपहर बाद शुरू हुई बारिश मंगलवार सुबह तक जमकर बरसी है. आलम यह है कि चंबा जिले में बादल फटा है और इसमें काफी नुकसान हुआ है. हालांकि, अब तक किसी तरह के जानी नुकसान की सूचना नहीं है.

जानकारी के अनुसार,मंगलवार सुबह चम्बा जिला के विकासखंड मैहला के ग्राम पंचायत कुनेड में बादल फटने से लाखों रुपए का नुकसान हुआ है. भरमौर उप मंडल का संपर्क सड़क मार्ग से पूरी तरह से कट गया है, क्योंकि बादल फटने की वजह से आई बाढ़ के कारण कलसुई के पास चंबा-भरमौर हाईवे बंद हो गया है.

किलोड़ वार्ड के जिला परिषद सदस्य ललित ठाकुर ने बताया कि किलोड़ पंचायत के कई घरों में मलबा घुस गया है. कई रास्ते पूरी तरह से नष्ट हो गए हैं, लेकिन राहत की बात है कि इस घटना से किसी प्रकार का जानी का नुकसान नहीं हुआ है.

उपायुक्त चंबा DC राणा ने घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि फील्ड स्टाफ को नुकसान का जाएजा लेकर रिपोर्ट देने के आदेश जारी कर दिए हैं. NH प्राधिकरण चंबा ने मशीनरी को भेजकर मार्ग को बहाल करने का कार्य शुरू कर दिया है. जिले की ग्रांम पंचायत पल्यूर में भी बारिश के बाद साहो पल्यूर नाले में अचानक पानी का जलस्तर बहुत ज्यादा बढ़ गया, जिससे बाढ़ जैसी स्थिति पैदा गई.

एक गोशाला क्षतिग्रस्त हो गई। किसानों की जमीनों पर तेज बहाव से नालियां बन गईं है. आलू, मक्की आदि फसलों को नुकसान पहुंचा हैै. लोगों के घरों और गोशाला में पानी भर गया है. गणजी में दो कारें मलबे में दब गई हैं. जिला परिषद सदस्य सदस्य मनोज कुमार ने कहा कि नाले में बढ़े जलस्तर से पेयजल की पाइपलाइन भी फट गई.

बारिश से जगह-जगह भूस्खलन हुआ, जिससे नेशनल हाईवे समेत 23 मार्गों पर वाहनों की आवाजाही बाधित है. कई घरों में पानी भर जाने से लोगों में दहशत का माहौल बन गया. लोग जरूरी सामान को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने में लगे है. डरे हुए परिवार बच्चों को लेकर सुरक्षित स्थान पर जा पहुंचे .

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More