हिमाचल: इन 7 राज्यों से आने वाले लोगों के लिए लाना अनिवार्य होगा Corona नेगेटिव रिपोर्ट

हिमाचल प्रदेश में बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुये हिमाचल सरकार ने राज्य में आने वाले लोगों को कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट लेकर आने का आदेश जारी कर दिया है. कोरोना वायरस के हाई लोड वाले सात राज्यों पंजाब, दिल्ली, महाराष्ट्र, गुजरात, कर्नाटक, राजस्थान और उत्तर प्रदेश के लोगों को राज्य सरकार ने बिना कोविड रिपोर्ट हिमाचल प्रदेश में न आने की सलाह दी है. आने से पहले 72 घंटे के भीतर की आरटीपीसीआर की निगेटिव रिपोर्ट लाने की सलाह दी है.

16 अप्रैल के बाद राज्य का दौरा करने वालों को यह नेगेटिव रिपोर्ट लानी को लेकर एडवाइजरी जारी होगी, ताकि हिमाचल में कोरोना के प्रसार पर नजर रखी जा सके. मुख्य सचिव और अन्य आला अधिकारियों के साथ कोरोना के हालातों की समीक्षा करने के बाद मुख्यमंत्री ने यह फैसला लिया है.

इस सीएम जय राम ठाकुर ने कहा कि सरकार ने प्रदेश में पर्यटकों को आने की अनुमति प्रदान की है, लेकिन इसके साथ वायरस को फैलने से रोकने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा जारी की गई मानक संचालन प्रक्रियाओं का होटल मालिकों तथा पर्यटकों द्वारा कड़ाई से पालन करना होगा. सीएम ने कहा कि केन्द्र और राज्य सरकारों द्वारा कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए जारी की गई सभी मानक संचालन प्रक्रियाओं तथा दिशा-निर्देशों को कड़ाई से लागू किया जाना चाहिए.

सीएम ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि माइक्रो कंटेनमेंट जोन की निगरानी के साथ जांच, ट्रेसिंग और उपचार की दोहरी रणनीति पर कार्य करना होगा. मुख्यमंत्री ने कहा कि आरटीपीसीआर जांच के 70 प्रतिशत के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए आरटीपीसीआर टेस्ट भी बढ़ाए जाएंगे.

जयराम ठाकुर ने कहा कि राज्य सरकार ने श्रद्धालुओं को नवरात्र उत्सव के दौरान राज्य में विभिन्न मंदिरों की यात्रा करने की अनुमति दी है, लेकिन साथ ही, ‘लंगर’, ‘भंडारे’ और ‘जागरण’ के आयोजन पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया है. उन्होंने कहा कि श्रद्धालुओं को सामाजिक दूरी बनाए रखने और मास्क पहनने के साथ ‘पूजा’ और ‘दर्शन’ करने के लिए मंदिर जाने की अनुमति होगी. मंदिर प्रबंधन को राज्य सरकार द्वारा निर्धारित एसओपी के सख्त कार्यान्वयन को भी सुनिश्चित करना होगा.

उन्होंने कहा कि बसों और अन्य सार्वजनिक परिवहन और निजी वाहनों में अधिक भीड़ ना हो इस बात को भी सुनिश्चित किया जाए. वाहनों में भी फेस मास्क पहनना सख्ती से लागू किया जाना चाहिए.

सीएम जयराम ठाकुर ने कहा कि सामाजिक कार्यों जैसे विवाह आदि के आयोजन को लेकर जारी एसओपी को भी सख्ती से लागू किया जाएगा. एसओपी के उल्लंघन में शामिल लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए. उन्होंने कहा कि लोगों की ढील के चलते ही हिमाचल में कोविड मामलों में तेजी से बढ़ोतरी हुई है. उन्होंने कहा कि होम आइसोलेट (Home Isolate) लोगों की नियमित निगरानी पर विशेष ध्यान दिया जाना चाहिए. अगर किसी में कोविड के लक्षण दिखते हैं तो उन्हें टेस्ट के लिए तुरंत जाने के लिए प्रेरित किया जाना चाहिए, ताकि उन्हें बिना देरी के उपचार प्रदान किया जा सके.

सीएम ने कहा कि लोगों को भी सार्वजनिक स्थानों पर गैर-जरूरी यात्रा करने से बचना चाहिए. साथ ही साथ आफिस आदि में उचित सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखनी चाहिए.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More