किशनगंज सीमा से सटे बंगाल में छापेमारी करने गए पुलिस इंस्पेक्टर को ग्रामीणों की भीड़ ने पीट-पीटकर मार डाला

बिहार के किशनगंज जिले से बड़ी खबर सामने आ रही है जहां बंगाल सीमा पर छापेमारी करने गए किशनगंज टाउन थानाध्यक्ष की बेरहमी से हत्या कर दी गई है. घटना उस वक्त की है जब किशनगंज टाउन थानाध्यक्ष अश्विनी कुमार अपनी टीम के साथ किशनगंज से सटे बंगाल के बनतापारा में शुक्रवार देर रात चोरी केस में छापामारी करने गए थे. जानकारी के अनुसार मॉब लिंचिंग का मामला बताया जा रहा है.

मिली जानकारी के अनुसार थानाध्यक्ष अश्विनी कुमार अपनी टीम के साथ शनिवार अहले सुबह करीब 3 बजे शहर से 12 KM दूर प.बंगाल के पांजीपाड़ा थाना क्षेत्र पनतापाड़ा गांव में बाइक चोर की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी करने गए थे. बंगाल में बिहार की पुलिस को देख ग्रामीण आक्रोशित हो गए और पुलिसकर्मियों पर हमला कर दिया. इस दौरान अन्य पुलिसकर्मी भागने में सफल हो गए लेकिन थानेदार पकड़ा गए. लोगों की भीड़ ने थानेदार को घेर मार डाला.

घटना की सूचना पर पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया है. आनन-फानन में पुलिस टीम मौके पहुंची. घटना की सूचना पर वरीय पुलिस अधिकारी पूर्णिया आईजी सुरेश चौधरी और एसपी कुमार आशीष मौके पर पहुंचे.  टाउन थानाध्यक्ष का शव पोस्टमॉर्टम के लिए इस्लामपुर अस्पताल लाया गया है जहां वरीय अधिकारियों की मौजूदगी में शव का पोस्टमॉर्टम कराया जा रहा है.

मिली जानकारी के अनुसार घटना के बाद बिहार के डीजीपी एसके सिंघल ने पश्चिम बंगाल के डीजीपी से की बातचीत की है और पूरी घटना की जानकारी देते हुए आरोपी के खिलाफ शीघ्र कार्रवाई का आग्रह किया है. किशनगंज थानाध्यक्ष अश्वनी कुमार लूट कांड के आरोपी को पकड़ने गये थे जहां यह दुखद घटना घटी है. वहीं पश्चिम बंगाल के डीजीपी ने भी घटना के दुखद बताते हुए आरोपी के खिलाप शीघ्र कार्रवाई का आश्वासन दिया है.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More