हिमाचल सरकार का बड़ा फैसला: शादी समारोह में इनडोर 50 और आउटडोर अधिकतम 200 लोग होगे शामिल, स्वर्णिम रथ यात्रा स्थगित

हिमाचल में कोरोना की दूसरी लहर के बढ़ते प्रकोप के बाद प्रदेश सरकार ने शादियों व अन्य समारोहों में लोगों के शामिल होने की संख्या तय कर दी है. हाल में होने वाले कार्यक्रमों में 50 लोग ही शामिल हो पाएंगे. खुले में आयोजित होने वाले कार्यक्रमों में 200 से अधिक लोग शामिल नहीं हो पाएंगे. यह फैसला मंगलवार को मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में हुई उच्चस्तरीय बैठक में लिया गया. प्रदेश सरकार ने हिमाचल के पूर्ण राज्यत्व दिवस के उपलक्ष्य में निकाली जा रही स्वर्णिम हिमाचल रथयात्रा को भी स्थगित करने का फैसला लिया है.

हिमाचल प्रदेश में कोविड-19 मामलों में वृद्धि के दृष्टिगत राज्य सरकार ने हिमाचल दिवस के अवसर पर 15 अप्रैल 2021 को आरम्भ होने वाली स्वर्णिम हिमाचल रथ यात्रा को फिलहाल स्थगित करने का निर्णय लिया है. यह रथ यात्रा प्रदेश के पूर्ण राज्यत्व के स्वर्ण जयंती वर्ष के अवसर पर आयोजित किए जाने समारोहों के उपलक्ष्य में आयोजित की जानी है. यह निर्णय राज्य में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा के लिए मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में लिया गया.

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में स्वर्णिम हिमाचल रथ यात्रा के आयोजन पर स्थिति सामान्य होने के बाद निर्णय लिया जाएगा. उन्होंने कहा कि इसी तरह अगले निर्देशों तक विवाह समारोहों में लोगों की संख्या नियंत्रित करने के लिए इनडोर 50 और आउटडोर अधिकतम 200 लोगों को ही शामिल होने की अनुमति देने का निर्णय लिया गया है. इसके अलावा, अंतिम संस्कार में केवल 50 व्यक्तियों को शामिल होने की अनुमति प्रदान की जाएगी.

जय राम ठाकुर ने स्वास्थ्य विभाग को सरकारी अस्पतालों में बिस्तरों की क्षमता बढ़ाने के लिए प्रभावी कदम उठाने के निर्देश दिए ताकि कोरोना के मामलों में वृद्धि होने की स्थिति में संक्रमित लोगों को बेहतर उपचार सुविधा प्रदान की जा सके. उन्होंने कोरोना रोगियों के लिए बिस्तरों की वैकल्पिक व्यवस्था करने के लिए राज्य के निजी अस्पतालों से संपर्क करने के लिए भी कहा.

मुख्यमंत्री कहा कि इस वायरस को फैलने से रोकने के लिए सरकार पूरी तरह तैयार है और प्रदेश में ऑक्सीजन सिलेंडर, वैक्सीन, पीपीई किट्स, फेस मास्क और हैंड सैनिटाइजर की कोई कमी नहीं है. उन्होंने कहा कि नेर चैक चिकित्सा महाविद्यालय में कोविड रोगियों के लिए अतिरिक्त बिस्तर उपलब्ध करवाए जाएंगे और नाहन चिकित्सा महाविद्यालय में 28 नर्सों के नए बैच को तैनात करने के आदेश जारी कर दिए गए हैं. उन्होंने कहा कि हमीरपुर और नाहन चिकित्सा महाविद्यालयों में भी वैकल्पिक बिस्तरों की क्षमता बढ़ाई जाएगी.

मुख्यमंत्री ने कहा कि जिलों में कोविड-19 के लिए टीकाकरण और जांच को अभियान मोड पर चलाने के निर्देश दिए गए हैं. साथ ही होम आईसोलेशन में रह रहे कोविड रोगियों से संपर्क रखने के निर्देश भी दिए गए हैं ताकि आवश्यकता पड़ने पर उन्हें अस्पतालों में चिकित्सा उपचार के लिए सलाह दी जा सके.उन्होंने कहा कि सीमा क्षेत्रों पर लोगों की स्क्रीनिंग पर विशेष बल दिया जा रहा है.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More