नालंदा: राजगीर के वैभारगिरी पर्वत पर लगी भीषण आग, आग बुझाने में जुटा वन विभाग

नालंदा: राजगीर के प्रसिद्ध वैभारगिरी पर्वत पर शनिवार की दोपहर अचानक आग लग गई. इस आग ने करीब एक किलोमीटर के क्षेत्र को अपने चपेट में ले लिया. वभारगिरि पर जंगल में कोनार नगर गांव के सामने से लेकर मार्क्सवादी नगर तक एक किलोमीटर से अधिक दूरी में आग लगी है.

इससे भीषण आग में वन संपदा को भारी नुकसान पहुंचा है. आग लगने के कारण पहाड़ पर अवस्थित कई पेड़ पौधे जल गए. पशु-पक्षी भी आग की चपेट में आ गए. आग लगने के कारणों का पता नहीं चल सका है.

ग्रामीणों ने बताया कि यह आग शनिवार की सुबह से ही लगी हुई है. हालांकि वन विभाग के कर्मी आग को पीट-पीटकर बुझाने का भरसक प्रयास कर रहे हैं. लोगों ने कहा कि गर्मी आते ही हर साल राजगीर के जंगलों व पहाड़ों पर आग लगने का सिलसिला शुरू हो जाता है. इससे हर साल लाखों रुपये की जड़ी-बूटी व लकड़ी जलकर राख हो जाती है.

इस विषय में जिला वन्य पदाधिकारी डॉ. नेसामनी ने बताया कि पहाड़ पर लगी आग को बुझाने का प्रयास वन्य कर्मियों के द्वारा किया जा रहा है. उन्होंने बताया कि पानी की पहुंच से बाहर होने के कारण झाड़ियों एवं हरी पत्तियों के सहारे आग बुझाने का कार्य होता है. जिसके कारण आग पर काबू पाने में काफी वक्त लगता है.

डॉ. नेसामनी ने संभावना व्यक्त करते हुए कहा कि गर्मी के कारण पेड़ों की टहनियों में घिसाव के कारण चिंगारी उत्पन्न हो जाती है. तेज हवा के कारण आपस में पत्थरों के टकराने के कारण भी आग लग सकती है. उन्होंने किसी शरारती तत्वों के द्वारा आग लगाने की संभावना से इंकार किया.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More