कटिहार: अपराधियों ने राजद नेता की गोली मारकर की हत्या, पेट्रोल पंप पर भी की लूटपाट

बिहार के कटिहार में अपराधियों ने राजत नेता सह व्यवसायी निर्मला बुबना की गोली मारकर हत्या कर दी . हत्या की ये वारदात सलमारी थाना क्षेत्र के काली मंदिर स्थित घर के पास ही हुई जहां मोटरसाइकिल सवार अज्ञात अपराधियों ने उन पर ताबड़तोड़ फायरिंग की.इस वारदात को अंजाम देने के बाद अपराधियों ने चंद फर्लांग में मौजूद पेट्रोल पंप में भी लूट की वारदात को अंजाम दिया.

दोनों ही वारदात को अंजाम देते हुए अपराधी आराम से चलते बने. इधर घटना की सूचना मिलते ही बारसोई एसडीपीओ प्रेमनाथ राम के नेतृत्व में आधा दर्जन थानों की पुलिस मौके पर पहुंच आवश्यक कार्रवाई में जुट गई. पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए कटिहार भेज दिया है. अपराधियों की धड़ पकड़ के लिए क्षेत्र में छापेमारी अभियान भी शुरु कर दिया गया है. घटना का कारण फिलहाल स्पष्ट नहीं है. फिलहाल एक साथ हत्या व लूट की बड़ी वारदात से पूरे इलाके में दहशत व्याप्त है.

जानकारी के अनुसार निर्मल बूबना सालमारी बाजार में मौजूद अपने कपड़े की दुकान से चंद दूरी पर मौजूद घर लौट रहे थे. ग्रामीणों के अनुसार जैसे ही वह घर के आगे मौजूद काली मंदिर परिसर में पहुंचे, पूर्व से घात लगाए अपराधियों ने ताबड़तोड़ गोलियां बरसानी शुरु कर दी.

लगभग एक दर्जन गोली उसके चेहरे व अन्य भागों में लगी है. इससे मौके पर ही उसने दम तोड़ दिया. इधर इस वारदात की सूचना पर लोग घटनास्थल की ओर दौड़ पड़े. इसी बीच वहां से भागे अपराधी सालमारी बाजार में मौजूद शंकर अग्रवाल के पेट्रोल पंप पर धावा बोल दिया और वहां भी फायङ्क्षरग करते हुए लूट की वारदात को अंजाम दिया. लूट की रकम का खुलासा फिलहाल पुलिस नहीं कर रही है। जानकारी के अनुसार दो लाख से अधिक की लूट हुई है.

बताया जा रहा कि निर्मल बूबना राजद के बड़े नेताओं में से थे. वह बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के करीबी भी माने जाते थे.

बता दें कि निर्मल बूबना शराबबंदी से पूर्व इलाके का बड़ा शराब कारोबारी था. बाद में उसने कपड़ा का व्यवसाय शुरु किया था. इलाके की राजनीतिक गतिविधियों में भी उनकी सक्रियता रहती थी. वे दबंग किस्म के व्यवसायी माने जाते थे.पिछले विधानसभा चुनाव में उनके कदवा विधानसभा सीट से चुनाव लड़ने की चर्चा थी.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More