नौकरी के नाम पर रातभर नाबालिग छात्रा को निर्वस्त्र रखा, हाथ-पांव बांधकर युवक ने की मनमानी

बेगूसराय: जिले के नगर थाना क्षेत्र में मॉल में नौकरी दिलाने के नाम पर एक नाबालिग से दुराचार किया गया. बताया जाता है कि आरोपी ने नाबालिग के हाथ-पैर बांधकर उससे दुष्कर्म का प्रयास किया.वह छोड़ देने की गुहार लगाती रही, लेकिन युवक का दिल नहीं पसीजा. सुबह चीखने-चिल्लाने की आवाज सुनकर लोग आए, तब जाकर किसी तरह वह कैद से आजाद हो सकी .

मामला नगर थाना क्षेत्र का है.पीड़िता 9वीं की छात्रा है. DSP हेडक्वार्टर निशीत प्रिया ने बताया कि पीड़िता के द्वारा आवेदन दिया गया है, जिसमें युवक पर आरोप लगाया गया है कि नौकरी का झांसा देकर बुलाया और पैर-हाथ बांधकर रातभर छेड़छाड़ किया गया. आवेदन के आधार पर तत्काल पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपी युवक और लाइनर महिला को गिरफ्तार कर लिया है.

घटना के संबंध में बताया जा रहा है कि पीड़ित नाबालिग की मां एक मॉल में साफ-सफाई का काम करती है. इसी सिलसिले में उसकी मुलाकात रीना नाम की एक महिला से हुई.

महिला ने मॉल में नौकरी दिलाने के नाम पर कुछ आवश्यक कागजात लिये और उनकी बात एक युवक से कराई. युवक ने 1 अप्रैल को लड़की को बुलाया था. जिसके बाद उक्त आरोपी महिला छात्रा को मुंगेरीगंज मुहल्ला स्थित एक मकान में ले गई,. जहां पहले से ही आरोपी युवक वहां मौजूद था.

बाद में महिला वहां से चली गई और युवक ने छात्रा को वहां महिला के आने तक बैठाए रखा. बाद में महिला के नहीं आने पर छात्रा घर जाने की जिद करने लगी तो युवक ने घर बंद कर लिया. काफी देर बाद भी जब महिला नहीं आई और छात्रा घर जाने की जिद करती रही तो युवक ने युवती को  निर्वस्त्र कर दिया.

नाबालिग ने आरोप लगाया है कि शोर मचाने पर उसे जान से मार देने की धमकी दी. बता दें कि आरोपी नाबालिग से पूरी रात अशालीन बर्ताव करता रहा. वहीं दूसरी ओर नाबालिग के परिजन रात भर खोज में लगे रहे लेकिन कुछ पता नहीं चल सका.

वहीं अगले दिन पीड़ित नाबालिग के परिजनों ने आरोपी महिला रीना देवी को धरदबोचा. जिसके बाद उस महिला को जबरन नवाब चौक लाया गया. नवाब चौक के लोगों ने इसकी सूचना नगर थाना को दी.बाद में महिला को पुलिस के हवाले कर दिया गया. पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए आरोपी युवक अटल कुमार को गिरफ्तार कर मामले के जांच में जुट गई है.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More