लुटेरी दुल्हन: शादी के 3 महीने बाद ससुराल से 15 लाख रुपये लूटकर 2 लुटेरी दुल्हनें हुई फरार

ग्वाल‍ियर: मध्य प्रदेश के ग्वाल‍ियर शहर में दो लुटेरी दुल्हनों की करतूत सामने आई है. दोनों उज्जैन की रहने वाली हैं. दोनों ने 3 महीने पहले कपड़ा व्यवसायी दो भाइयों से शादी की थी. दो महीने बाद ही घर से 8 लाख रुपये के गहने और 7 लाख रुपये लेकर फरार हो गईं.

पीडि़त व्यवसायी ने बिलौआ थाना में दोनों बहुओं, उनके भाई संदीप मित्तल, रिश्ता कराने वाले समेत अन्य 6 लोगों पर एफआईआर दर्ज कराई है. शादी के समय बताया गया था, उनके माता-पिता की मौत हो चुकी है. शादी कराने के नाम पर 7 लाख रुपये भी लिए गए थे. जांच में पता चला है क‍ि एक दुल्हन का पहले से ही एक बेटा है. उज्जैन में दोनों के खिलाफ धोखाधड़ी की एफआईआर पहले से ही दर्ज है.

बिलौआ थाना क्षेत्र निवासी नागेन्द्र जैन कपड़ा कारोबारी हैं. दिसंबर 2020 में उन्होंने छोटे भाइयों दीपक जैन और सुमित जैन की शादी उज्जैन निवासी नंदनी मित्तल व रिंकी मित्तल से की थी. रिश्ता दोनों लड़कियों के भाई संदीप मित्तल के सामने तय हुआ था. रिश्ता समाज के बाबूलाल जैन ने तय करवाया था. दोनों की जाति वैश्य बनिया बताई गई थी. शादी के बाद नंदनी और रिंकी करीब 15 से 20 दिन तक ससुराल रहीं. बाद में मायके चली गईं.

इसके बाद वह 9 जनवरी 2021 को अपने कथित भाइयों संदीप मित्तल व आकाश मित्तल के साथ आईं. कुछ देर तक ससुर से कमरे में कुछ बात की, इसके बाद ससुर को हार्टअटैक आ गया. गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उनकी मौत हो गई. ससुर के तेरहवीं के बाद दोनों ने तबीयत खराब होने का बहाना बनाया और घर छोड़ कर चली गईं. 

घटना का पता उस समय चला, जब कई दिन बाद भी वह वापस नहीं आईं. हर बार आने की बात करती रहीं. घर वालों को शक हुआ तो कमरों की तलाशी ली. पता चला कि वह दोनों बहनें घर का पूरा जेवर और 7 लाख रुपये नकद समेट ले गईं. जेवर की कीमत करीब 8 लाख रुपये है.

कई बार बुलाने के बाद भी जब दोनों नहीं आईं तो उनके सोशल मीडिया अकाउंट चेक किए गए. पता चला कि दोनों पहले से ही शादीशुदा हैं. नंदनी का तो एक बच्चा भी है और उनकी फेसबुक आईडी नंदनी प्रजापति और टीना यादव के नाम से हैं, जबकि रिंकी मित्तल की फेसबुक आईडी रिंकी प्रजापति के नाम से है. 

संदीप मित्तल की आईडी संदीप शर्मा व भाभी रीना मित्तल की आईडी रीना चंदेल और दूसरे भाई आकाश मित्तल की आईडी आकाश मराठा के नाम से मिली. साथ ही, पता चला कि उज्जैन में दोनों दुल्हनों के साथ ही उनके साथी पर शादी के नाम पर धोखाधड़ी के मामले दर्ज हैं.

पीड़‍ित व्यवसायी ने बताया कि शादी इंदौर निवासी बाबू लाल जैन ने कराई थी और उन्होंने बताया था कि 2012 में तूफान आने से नंदनी और रिंकी के पिता की मौत हो चुकी है और परिवार गरीब है. इसलिए दोनों तरफ की शादी का खर्चा उठाते हुए हमने उन्हें 7 लाख रुपये नकद दिए थे. पुलिस ने रिंकी, नंदनी, आकाश, संदीप, रीना तथा बाबूलाल जैन के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More