नितिन गडकरी का बड़ा ऐलान: साल भर में खत्म होंगे देश के सभी Toll Plaza, हाइवे पर लगेंगे GPS ट्रैकर

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने गुरुवार को लोकसभा में बड़ा ऐलान किया है. नितिन गडकरी ने कहा है कि सरकार अगले एक साल में सभी टोल प्लाजा खत्म करने की योजना पर काम कर रही है. आने वाले वक्त में टेक्नोलॉजी की मदद से लोगों को उतना ही टोल चुकाना होगा, जितना वो सड़क पर चलेंगे.उन्होंने कहा कि टोल कलेक्शन के लिए नया GPS सिस्टम शुरू किया जाएगा, जिसके बाद किसी को भी टोल के लिए रुकने की जरूरत नहीं होगी. 

दरअसल, अमरोहा से बीएसपी सांसद कुंवर दानिश अली ने गढ़ मुक्तेश्वर के पास सड़क पर नगर निगम की सीमा में टोल प्लाजा होने का मुद्दा उठाया. इसी पर जवाब देते हुए केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि पिछली सरकार में सड़क परियोजनाओं के ठेके में थोड़ी और मलाई डालने के लिए ऐसे कई टोल प्लाजा बनाए गए, जो नगर की सीमा पर हैं. यह निश्चित तौर पर गलत है और अन्याय करने वाला है.  हम ऐसे टोल को निकालने का फैसला कर चुके हैं. उन्होंने कहा कि हमारी सरकार एक साल के भीतर देश के सभी टोल को खत्म कर देगी. 

उन्होंने बताया कि टोल प्लाजा खत्म होने के बाद GPS के जरिए टोल की वसूली होगी. सड़क की एंट्री और एग्जिट प्वाइंट्स पर कैमरे होंगे. जब आप किसी सड़क पर एंट्री करेंगे और जहां निकलेंगे, दोनों जगह पर आपकी इमेज कैमरे से रिकॉर्ड कर ली जाएगी. इस हिसाब से आपसे टोल लिया जाएगा. यानी जितना सफर यात्री करेंगे सिर्फ उतना ही टोल कटेगा, आपको कहीं पर भी रुकने की जरूरत नहीं होगी. नितिन गडकरी ने ऐलान किया कि अब GSP सिस्टम नई गाड़ियों में लगकर आ रहा है, लेकिन पुरानी गाड़ियों में हम GPS फ्री में लगाकर देंगे. 

नितिन गडकरी ने संसद में बताया कि अभी टोल की मौजूदा व्यवस्था में चोरियां भी बहुत होती थीं. अभी कोविड के कार्यकाल में हमारा टोल कलेक्शन 24 हजार करोड़ रुपये सालाना था, जो कि 10 हजार करोड़ रुपये कम होना चाहिए था. लेकिन हम FASTag लेकर आए, जो कि 93 परसेंट लागू हो चुका है, बाकी 7 परसेंट डबल टोल देकर जा रहे हैं, क्योंकि वो रिकॉर्ड नहीं होना चाहते हैं. अब मैंने आदेश दिया है कि इन पर पुलिस कार्रवाई की जाए. 

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More