रिश्ते हुए शर्मसार: भाई-बहन ने आपस में कर ली शादी, पिता ने जीते जी बेटी का किया अंतिम संस्‍कार

रामगढ़: झारखंड के रामगढ़ जिले से बेहद हैरान करने वाला वाक्‍या सामने आया है. यहां अपनी ही बेटी की घिनौनी करतूत से शर्मसार एक पिता ने जीते जी उसका अंतिम संस्‍कार कर दिया. श्‍मशान घाट में विधि-विधान के साथ बेटी का पुतला बनाकर पहले उसकी चिता सजाई. फिर मुखाग्नि देकर उसे पंचतत्‍व में विलिन किया गया. अंतिम संस्‍कार की रस्‍म अदायगी में युवती के सभी परिजन मौजूद रहे. यह मामला प्रेम प्रसंग से जुड़ा है. युवती ने घर से भागकर अपने ही चचेरे भाई से शादी कर ली. जिसके बाद पूरे गांव में परिवार की इज्‍जत नीलाम हो गई.

रामगढ़ जिले के रजरप्‍पा थाना के चितरपुर प्रखंड में हुई इस चौंकाने वाली घटना से गांव-जेवार सन्‍न है. यहां अपनी ही बेटी की घिनौनी करतूत से शर्मसार एक परिवार ने जीते जी उसका अंतिम संस्‍कार कर दिया. इस पूरे घटनाक्रम की चर्चा पूरे इलाके में हो रही है. यहां युवती ने भागकर अपने ही चचेरे भाई से शादी कर ली.

बताया जाता है कि इस युवती की शादी तय कर दी गई थी. बुधवार को इसका तिलक समारोह होने वाला था. चचेरे भाई-बहन की शादी की पूरे इलाके में चर्चा हो रही है.

मामला चितरपुर प्रखंड क्षेत्र के लारी गांव का है. यहां विष्‍णु टोला में रहने वाले युवक ने अपनी चचेरी बहन से ही शादी कर ली. बुधवार को युवती के नाराज पिता और परिवार वालों ने युवती का पुतला बनवाया और सिमरा घाट में अंतिम संस्‍कार कर दिया. युवती की शर्मसार करने वाली इस हरकत से उसके पिता सदमे में हैं. कहा कि बेटी ने उनकी नाक कटा दी. वे समाज में किसी को मुंह दिखाने के काबिल नहीं रहे.

जानकारी के मुताबिक युवती अपने प्रेमी, रिश्‍ते में चचेरे भाई के साथ 28 फरवरी को ही घर से भाग गई थी. इस मामले में युवती के पिता ने रजरप्‍पा थाने में लिखित शिकायत दर्ज कराई थी. युवती क्रांति कुमारी के पिता सुनील महतो ने अपनी बेटी को जबरन घर से भगा ले जाने का आरोप लगाते हुए जितेंद्र कुमार, मिथिलेश को आरोपित किया था.

रामगढ़ पुलिस ने काफी खोजबीन के बाद बीते दिन बड़ी मशक्‍कत से प्रेमी जोड़े को ढूंढ‍ निकाला. थाने में युवती और उसके चचेरे भाई ने शादी करने की बात कबूल की है. युवती के परिजनों ने उसे काफी समझाने का प्रयास किया, लेकिन वह अपने प्रेमी के साथ रहने पर अड़ रहीं. बेटी के नहीं मानने पर नाराज पिता ने श्‍मशान घाट में चिता सजाई और युवती का पुतला जलाकर अंतिम संस्‍कार कर दिया.

परिवार वालों का कहना है कि युवती अब उनके लिए मर चुकी है. उसने जिंदगीभर के लिए परिवार को घुटन दे दिया. इतनी जिल्‍लत बर्दाश्‍त नहीं की जा सकती. इसके लिए ही युवती को मरा हुआ मानकर हमने अंतिम संस्‍कार कर दिया.

रजरप्‍पा थाने के थानेदार विपिन कुमार ने बताया‍ कि युवक और युवती दोनों बालिग हैं. ऐसे में उनपर कोई दबाव नहीं बनाया जा सकता. उन्‍होंने आपसी सहमति से शादी रचाई है. उनके परिवार वालों को धैर्य से काम लेना चाहिए.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More