ISRO ने लॉन्‍च किया साल का पहला मिशन, अंतरिक्ष में भेजी भगवद गीता और PM मोदी की तस्वीर

नई दिल्ली: इसरो ने अंतरिक्ष में इतिहास रच दिया है. साल 2021 के पहले अंतरिक्ष मिशन को आज सफलतापूर्वक लॉन्च किया गया. इसरो ने श्रीहरिकोटा स्पेसपोर्ट से सतीश धवन (Satish Dhawan Space Centre) ने अंतरिक्ष केंद्र से अमोनिया -1 (v) सहित 18 अन्य उपग्रहों को अंतरिक्ष ले जाने वाले PSLV-C51 को सफलतापूर्वक लॉन्च किया.

 2021 में इसरो का यह पहला लांच

आपको बता दें कि 2021 में भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन का यह पहला लॉन्च है.ये मिशन अब तक के सबसे लंबे स्पेस आ़परेशन में शामिल है. भारतीय रॉकेट PSLV-C51 को रविवार सुबह 10.24 मिनट पर आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा में स्थित सतीश धवन स्पेस सेंटर (SDSC) से एक लॉन्च पैड के सहारे रवाना किया गया.

इस मिशन के सफलतापूर्वक लांच होने के बाद इसरो के प्रमुख के सिवन (ISRO Chief K Sivan) ने बताया कि इस मिशन से भारत और ISRO, ब्राजील द्वारा एकीकृत पहले उपग्रह को लॉन्च करने पर बेहद गर्व महसूस कर रहे हैं. साथ ही उन्होंने बताया कि सभी सैटेलाइट्स बहुत ही सुरक्षित हालत में हैं. उन्होंने ब्राजील की टीम को बधाई भी दी.

गूंजेगा गीता का संदेश

इसरो के इस लॉन्च की खास बात यह है कि इसके साथ भगवद गीता भी अंतरिक्ष में भेजी गई है. इसका मतलब अब विश्व गुरु भारत में ही नहीं बल्कि अंतरिक्ष में भी गीता का संदेश गुजेगा. प्रत्येक भारतीयों के लिए ये पल गौरवपूर्ण है.

अंतरिक्ष में PM मोदी की तस्वीर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर भी इस मिशन के साथ आसमान की ऊंचाइयों में पृथ्वी का चक्कर काटेगी. आपको बता दें कि स्पेस किड्ज इंडिया ने अपने सतीश धवन सैटेलाइट के शीर्ष पैनल पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर बनाई है. स्पेस किड्ज इंडिय की वेबसाइट के अनुसार, ऐसा इसलिए किया गया है क्योंकि पीएम की आत्मनिर्भर पहल और निजी कंपनियों के लिए अंतरिक्ष की राह खोलने वाले निर्णय से एकजुटता दिखाई जा सके.

19 सैटेलाइट को अंतरिक्ष में भेजा गया

ब्राजील के एमाजोनिया-1 प्राइमरी सेटेलाइट के साथ ही पीएसएलवी–सी51 से 18 और सेटेलाइट लॉन्च किए गए. यह पीएसएलवी का 53वां मिशन है. पीएसएलवी–सी51/ एमाजोनिया–1 अंतरिक्ष विभाग के तहत सरकारी कंपनी न्यूस्पेस इंडिया लिमिटेड (NSIL) का पहला समर्पित वाणिज्यिक मिशन है. एनएसआइएल इस मिशन को अमेरिका की स्पेसफ्लाइट इंक के साथ वाणिज्यिक अनुबंध के तहत पूरा की  है. एमाजोनिया-1 के साथ जिन अन्य 18 सेटेलाइट को लांच किया गया है उनमें चार इसरो के इंडियन नेशनल स्पेस प्रमोशन एंड अथाराइजेशन सेंटर और 14 एनएसआइएल शामिल हैं.

अंतरिक्ष में रेडिएशन पर रिसर्च

गौरतलब है कि पीएसएलवी (पोलर सैटेलाइट लॉन्च व्हीकल) सी51/अमेजोनिया-1 इसरो की वाणिज्य इकाई न्यूस्पेस इंडिया लिमिटेड (एनएसआईएल) का पहला समर्पित वाणिज्यिक मिशन है. अमेजोनिया-1 के बारे में बताया गया है कि यह उपग्रह अमेज़न क्षेत्र में वनों की कटाई की निगरानी और ब्राजील के क्षेत्र में विविध कृषि के विश्लेषण के लिए उपयोगकर्ताओं को दूरस्थ संवेदी आंकड़े मुहैया कराएगा. इस सैटेलाइट के जरिए स्पेस किड्ज इंडिया अंतरिक्ष में रेडिएशन पर रिसर्च करेगा.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More