शबनम के 12 साल के बेटे ने राष्ट्रपति से लगाई माफी की गुहार- राष्ट्रपति अंकल, मेरी मां को माफ कर दो

उत्तर प्रदेश के अमरोहा के बानवखेड़ी हत्‍याकांड की खलनायिका शबनम और सलीम की फांसी की चर्चाओं के बीच उसके बेटे ताज ने अपनी मां के लिए राष्ट्रपति से गुहार लगाई है जो अब 12 साल का हो गया है. बेटे ताज ने कहा कि राष्ट्रपति अंकल जी, मेरी मां को माफ कर दो.

बुलंदशहर में भूड़ चौराहे के समीप सुशील विहार कॉलोनी में रहने वाले उस्मान सैफी के संरक्षण में पल-बढ़ रहे ताज को मां के गुनाहों का अहसास है. उस्मान ने फोन पर बताया कि बेटे ताज ने राष्ट्रपति से मां शबनम को माफ करने की मांग की है.

फांसी की सजा के चलते रामपुर जेल में कैद शबनम से बेटे ताज और उस्मान ने 21 जनवरी को मुलाकात की थी. जेल में मुलाकात के दौरान बेटे ताज को दुलारते हुए शबनम ने टॉफी के अलावा रुपये भी दिए थे.उस्मान ने बताया कि मुलाकात के दौरान शबनम ने बेटे से कहा था कि पढ़ लिख कर अच्छा इंसान बनना है. मन से पढ़ाई करोगे तो आगे बढ़ोगे.

बता दे कि वारदात के वक्‍त शबनम दो महीने की गर्भवती थी. इस बच्‍चे का जन्‍म जेल में हुआ था. गौरतलब है कि राष्‍ट्रपति शबनम की दया याचिका खारिज कर चुके हैं. अब अपनी मां की ओर से बेटे ने उनसे माफी की गुहार लगाई है.  

शबनम आजाद भारत में फांसी की सजा पाने वाली पहली महिला अपराधी है. उसने 14 अप्रैल 2008 की रात अपने प्रेमी सलीम के साथ मिलकर परिवार के सात लोगों की हत्‍या कर दी थी. इस मामले में पकड़े जाने के बाद शबनम में जेल में अपने बच्‍चे को जन्‍म दिया जिसे बाद में उसके एक दोस्‍त ने गोद ले लिया. आज उस बच्‍चे की उम्र 12 साल है.

उधर, शबनम के चाचा और चाची ने उसे जल्‍द फांसी देने की मांग की है. राष्‍ट्रपति द्वारा शबनम और सलीम की दया याचिका खारिज किए जाने के बाद दोनों ने खुशी का इजहार किया. शबनम की चाची ने कहा-
‘हमें तो खून का बदला खून ही चाहिए. हम तो यही चाहते हैं कि इसे फांसी जल्द हो जाए. चाची ने कहा कि उस समय अगर हम भी घर में होते तो इसने हमें भी मार डाला होता. हम घटना के बाद आधी रात में यहां पहुंचे थे. 

शबनम को फांसी पर चढ़ाए जाने के बाद क्या उसका शव लेंगे? इस सवाल पर चाची ने कहा कि हम क्यों लेंगे? हम नहीं लेंगे. ऐसी लड़की की लाश लेकर हम क्‍या करेंगे? चाचा ने कहा कि शबनम ने जो किया, वो उसे भरना ही पड़ेगा.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More