Avalanche Alert in Himachal: मनाली और लाहौल में हिमस्‍खलन की चेतावनी जारी

हिमाचल प्रदेश के पर्यटन नगरी मनाली में बीते दिनों हुई बर्फबारी के बाद मौसम सुहावना हो गया है, लेकिन अब हिमस्खलन की चेतावनी जारी की गई है. मौसम के साफ होते ही अब मनाली सहित जिला लाहौल एवं स्पीति में हिमस्खलन आने का खतरा बना हुआ है. इसके बाद कुल्लू और लाहुल-स्पीति प्रशासन ने पर्यटकों सहित स्थानीय लोगों को ऊंचाई वाले क्षेत्रों में न जाने की हिदायत दी है.

हिम अध्ययन संस्थान (सासे) मनाली के ने 8 और 9 फरवरी को चौबीस घंटे के दौरान जिला कुल्लू और जिला लाहौल स्पीति सहित लेह तक कई स्थानों में हिमस्खलन की सम्भावनाएं जताई है.दरअसल, उत्तराखंड में चमौली में ग्लेशियर टूटने के बाद आए सैलाब के बाद हिमाचल सरकार भी सतर्क हो गई है.

सासे की चेतावनी के बाद कुल्लू और जिला लाहौल स्पीति प्रशासन सर्तक हो गया है. प्रशासन ने अलर्ट जारी करते 8 और 9 फरवरी को स्थानीय लोगों और पर्यटकों से उंचाई वाले क्षेत्रों और हिमस्ख्लन वाले क्षेत्रों का रूख न करने की अपील की है. मनाली प्रशासन ने भी जारी घाटी में अलर्ट जारी किया है.

मनाली एसडीएम रमन घरसंगी ने बताया कि हिम तथा अवधाव अध्ययन संस्थान सासे मनाली के द्वारा मनाली सहित जिला लाहौल स्पीती में कई स्थानों पर हिमस्खलन आने की आशंका जताई गई है, जिसके बाद पूरा प्रशासन भी सर्तक हो गया है और घाटी के लोगों को सर्तक रहने के लिए कहा गया है. साथ ही मनाली घूमने आने वाले पर्यटकों और स्थानीय लोगों से भी अपील की गई है कि आगामी चौबीस घंटे के दौरान कोई भी व्यक्ति उंचाई वाले क्षेत्रों और हिमस्ख्लन प्रभावित क्षेत्रों का रूख ना करें.

मनाली से अटल टनल के मध्य और टनल से जिला लाहौल स्पीति में कई ऐसे स्थान हैं, जहां अक्सर हिमस्खलन आते रहते हैं और आजकल भी इन स्थानों पर हिमस्खलन आने की सम्भावानाएं बनी हुई है. ऐसे में प्रशासन ने सभी लोगों की सुरक्षा को देखते हुए अटल टनल की और जाने वाले वाहनों पर रोक लगाई हुई है. दरअसल, उत्तराखंड में चमौली में ग्लेशियर टूटने के बाद आए सैलाब के बाद हिमाचल सरकार भी सतर्क हो गई है.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More