अंधविश्वास: लोगो ने शिवलिंग समझकर घंटों की LED बल्ब की पूजा, पंद्रह सौ रुपये का चढ़ावा भी चढ़ाया

बदायूं: उत्‍तर प्रदेश के बदायूं के कुंवरगांव थाना क्षेत्र में हाल ही में एक अजीबोगरीब मामला देखने को मिला. लोग अंधविश्वास के चलते सुबह से लेकर दोपहर तक शिवलिंग समझकर एलईडी बल्ब की पूजा करते रहे और फिर दोपहर बाद जब लोगों ने उसे पूरा खोदा तो कोई अपनी हंसी नहीं रोक सका.

हालांकि जब तक शिवलिंग की जगह एलईडी बल्ब की बात सामने आयी तब तक तमाम लोगों ने उस पर जल, दूध और करीब पंद्रह सौ रुपये भी चढ़ा दिए थे. बाद में चढ़ावे के रुपये गांव के शनि मंदिर में दान करा दिए गए.

बदायूं के कुंवरगांव थाना क्षेत्र में यह घटना 27 जनवरी को घटी जब सुबह एक व्यक्ति अपनी पशुशाला में सफाई कर रहा था. झाडू लगाने के दौरान अचानक पशुशाला परिसर में एक सफेद चीज दिखी. उसने थोड़ी मिट्टी हटाई, तो वह गोल जैसी दिखी और चमक भी रही थी. उसने ज्यादा मिट्टी तो नहीं हटाई लेकिन उसकी सूचना गांव के तमाम लोग को दे दी.

कुछ लोग इसे शुरू से अंधविश्वास मान रहे थे, तो कुछ ग्रामीण कहने लगे कि यह भगवान शिव का शिवलिंग है. इस बात पर आसपास कट्टा (कपड़ा) बिछा दिया गया और मौके पर लोग का पहुंचना शरू हो गया और उसकी पूजा होने लगी. यही नहीं, इसकी गांव में ऐसी खबर फैली कि लोग अपने-अपने घर से चढ़ावे का सामान दूध, जल, रुपये और प्रसाद आदि लाकर चढ़ाने लगे. वहीं, दोपहर तक उसकी खूब पूजा हुई और तमाम लोगों ने दूध चढ़ाया. इस दौरान करीब पंद्रह सौ रुपये चढ़ावे में भी आ गए.

फिर ऐसे पता चली हकीकत

दोपहर बाद कुछ शरारती लोगों ने मिट्टी हटाकर उस चीज को पूरा निकाला तो वह एलईडी बल्ब था. यह देखकर लोगों में हंसी बनी. साथ ही उनका भ्रम दूर हुआ. जबकि कुछ सभ्रांत लोगों ने मौके पर पहुंचकर चढ़ावे में आए रुपये गांव के शनि मंदिर में दान करा दिए. इस दौरान पशुशाला परिसर में खूब भीड़ लगी रही, लेकिन हकीकत जानने के बाद हर कोई वहां से मुस्‍कराते हुए जाता नजर आया.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More