संयुक्त किसान मोर्चा का ऐलान: 6 फरवरी को पूरे देश में चक्का जाम

नए कृषि कानूनों को वापस लेने और एमएसपी पर कानून बनाए जाने की मांग करते हुए आंदोलन कर रहे किसान नेताओं ने चक्का जाम करने का ऐलान किया है. संयुक्त किसान मोर्चा के नेता बलबीर सिंह राजेवाल ने कहा है कि छह फरवरी को देशभर में आंदोलन होगा. इसके साथ ही, दोपहर 12 बजे से दोपहर तीन बजे तक सड़कों को ब्लॉक भी करेंगे.उन्‍होंने दिल्‍ली और आसपास के क्षेत्र में इंटरनेट बैन किए जाने पर नाराजगी व्‍यक्‍त की. साथ ही बजट में किसानों पर महत्‍वपूर्ण घोषणा नहीं किए जाने पर भी नाराजगी व्‍यक्‍त की. दिल्‍ली और आसपास में किसान आंदोलन का 68 दिन हो चुका है.

दरअसल, 26 जनवरी को किसान, ट्रैक्टर परेड के दौरान हुई हिंसा के बाद केंद्र सरकार के सख्त रवैया से नाराज हैं. उनका कहना है कि सरकार ने एजेंसियों की मदद से आंदोलन और अन्नदाताओं की छवि खराब करने की कोशिश की है. इसके अलावा इंटरनेट, पानी और बिजली भी काट दी गई है. समाधान के लिए बातचीत करने वाले पीएम को पहले ऐसा माहौल बनाना चहिए जिससे शांति स्‍थापित हो. एक तरफ फोर्स भेजी जा रही है तो वहीं दूसरी ओर मीटिंग के लिए बुलाया जा रहा है.

वहीं किसान आंदोलन के बीच, पीएम मोदी के खिलाफ विवादित ट्वीट करने पर सरकार ने सख्‍त एक्‍शन लिया है. आईटी मंत्रालय ने ट्विटर को 250 ट्विटर अकाउंट सस्‍पेंड करने का निर्देश दिया है. उसके बाद इन सभी अकाउंट को तुरंत प्रभाव से सस्‍पेंड किया गया. #ModiPlanningFarmerGenocide हैशटैग पर ट्वीट किए जा रहे थे. शनिवार से ये हैशटैग ट्विटर पर लीड कर रहा था. इसमें से कई ट्वीट/ट्विटर अकाउंट विदेश से चल रहे थे. सस्‍पेंड होने वाले कई अकाउंट/ट्वीट किसान यूनियन और किसान नेताओं से संबंधित भी हैं. गृह मंत्रालय के निर्देश पर IT मंत्रालय ने ट्विटर को निर्देश दिया.

गौरतलब है कि रविवार को किसान नेता सतनाम सिंह पन्नू ने भारत बंद के संकेत दिए थे. पन्नू ने कहा था कि सोमवार को मीटिंग में सहमति बनने के बाद तारीख का ऐलान कर दिया जाएगा और ऐसा ही हुआ. किसानों ने इस बार 6 फरवरी को भारत बंद का ऐलान कर दिया है. इस दिन 12 बजे 3 बजे तक किसान सड़कों पर ट्रैफिक को रोक देंगे. आपको बता दें कि इससे पहले किसानों ने 8 दिसंबर को भी भारत बंद का ऐलान किया था, जिसका असर देश के कई राज्यों में देखने को मिला था. 

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More