नालंदा: ASI का बालू माफियाओं से बातचीत का ऑडियो वायरल, कहा- 4 गाड़ी है 1200 से 12 रुपैया कम नै लेंगे,हमरा बाप भी आएगा तो उससे भी लेंगे

कोरोनाकाल में लोगों की मदद कर अपनी छवि सुधारने वाली ‘खाकी’ यानी पुलिस, बिहार में इन दिनों फिर बदनाम होने लगी है. इसका ताजा उदाहरण नालंदा मे देखने को मिला.

बिहार सरकार की ओर से सूबे में बालू का उठाव बंद करने का फरमान दिया गया है, पर हकीकत में ऐसा कुछ भी नहीं है. पुलिस की सांठगांठ से धड़ल्ले से बालू का उठाव हो रहा है. इसका प्रमाण नालंदा में बुधवार देर रात ASI (जमादार) और बालू माफियाओं के बीच बातचीत के वायरल ऑडियो से मिलता है. ऑडियो में एक ASI ट्रैक्टर चालकों से जबरन 300 रुपए प्रत्येक ट्रैक्टर लेने का दबाव बना रहा है. ASI कहता है कि “4 गाड़ी है…1200 से 12 रुपैया कम नै लेंगे, हमरा बाप भी आएगा तो उससे भी लेंगे.” दावा किया जा रहा है कि यह वायरल ऑडियो दीपनगर थाने में तैनात ASI विजय झा का है. इस वायरल ऑडियो की पुष्टि हिन्द न्यूज़ नहीं करता है. मामले में ​​​​ दीपनगर थानेदार ने कहा कि वायरल ऑडियो की जांच की जा रही है. मामला सही पाए जाने पर कार्रवाई होगी. उन्होंने कहा कि ASI विजय झा दीपनगर थाने में ही पदस्थापित है.

7 मिनट के ऑडियो में सांठगांठ की पूरी कहानी

दरअसल, नालंदा के NH-20 से बड़ी संख्या में हर रात दर्जनों बालू लदे ट्रैक्टर गुजरते हैं. उसी रास्ते में कहीं न कहीं पुलिस की टीम भी अवैध वसूली के लिए खड़ी रहती है. स्थानीय लोगों का कहना है कि पुलिसकर्मी रोजाना रात को NH किनारे खड़े होकर बालू लदे ट्रैक्टरों से अवैध वसूली करते हैं. इसी मामले में एक ऑडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. 7 मिनट से अधिक के ऑडियो में सांठगांठ की पूरी कहानी है.

300 रुपए से कम देने की बात थाने में बंद करने की धमकी

ऑडियो में ASI ट्रैक्टर चालकों से जबरन 300 रुपये प्रत्येक ट्रैक्टर लेने का दबाव बना रहे हैं. एक ट्रैक्टर चालक 300 रुपये से कम देने की बात करता है तो ASI भड़क भी जाता है. वह गाड़ी को सीधे थाने में बंद कर 20 हजार फाइन लगा देने की धमकी देता है. इसी दौरान एक बालू माफिया चार ट्रैक्टर ले कर पहुंचता है. उससे 1200 रुपये की डिमांड की जाती है. जब वह 1200 से कम देने की बात कहता है तो ASI भड़क जाता है और कहता है कि हमारा बाप भी आयेगा तो हम उससे भी लेंगे. पैसा कम होने की बात जब ट्रैक्टर चालक कहता है तो ASI उसे दूसरे ट्रैक्टर चालक से रुपए उधार लेकर देने के लिए कहता है. इसके बाद 4 ट्रैक्टरों का मालिक दूसरे ट्रैक्टर चालक से रुपए उधार मांग कर ASI को देता है.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More