BSE Sensex पहली बार रिकॉर्ड 50,000 के पार पहुंचा, निफ्टी भी 14,700 के पार

नई दिल्ली: बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज पर आज 30 शेयरों वाले प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स पहली बार रिकॉर्ड 50,000 अंकों के पार खुलने में कामयाब रहा. प्री-ट्रेड सेशन में अच्छी बढ़त के बाद आज सेंसेक्स 50,002 के स्तर पर खुला. इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है जब बीएसई सेंसेक्स 50,000 अंकों के पार पहुंचा है. सेसेंक्स ने 6 साल 8 महीने 5 दिन में 25 हजार से 50 हजार तक के सफर  को तय किया है. 

सेंसेक्स के अलावा आज नेशनल स्टॉक एक्सेंचज पर निफ्टी 50 भी 14,700 अंकों के पार खुलने में कामयाब रहा है. इसके पहले अमेरिका में नये राष्ट्रपति जो बाइडन के शपथ के बाद वॉल स्ट्रीट में भी रिकॉर्ड तेजी देखने को मिली. इसका असर आज एशियाई बाजारों में भी देखने को मिल रहा है.

10 महीने में करीब 25 हजार अंक उछला सेंसेक्स

पिछले साल ही कोरोना वायरस की खबरों के बीच शेयर बाजार में जोरदार गिरावट देखने को मिली थी. 25 मार्च को सेंसेक्स 25,639 के स्तर पर लुढ़क गया था. हालांकि अगले दिन ही बाजार में रिकवरी देखने को मिली और यह 30 हजार के स्तर पर पहुंचने में कामयाब रहा. इसके बाद 22 जून 2020 को 35,000 और 31 अगस्त को 40,000 के पार पहुंचा. 4 दिसंबर को सेंसेक्स करीब 67 सेशन में 45,000 के पार पहुंचा

निवेशकों ने कुछ मिनट में ही कमाए 1 लाख करोड़ रुपये

निवेशकों को आज बाजार खुलने के कुछ मिनटों में ही करीब एक लाख करोड़ रुपये का फायदा हुआ है. दरअसल, बुधवार को कारोबार बंद होने के बाद बीएसई का मार्केट कैप 1,97,70,572.57 अंक पर था. लेकिन, गुरुवार को बाजार खुलने के कुछ मिनटों बाद ही यह बढ़कर 1,98,67,265 अंक पर पहुंच गया. इस प्रकार निवेशकों को आज 96,690.11 करोड़ रुपये का फायदा हुआ

इन शेयरों में तेजी

आज टाटा मोटर्स, यूपीएल, विप्रो, बजाज फिनसर्व, बजाज फाइनेंस, बजाज ऑटो, रिलायंस इंडस्ट्रीज और एचसीएल टेक्नोलॉजी के स्टॉक्स में 3.69 फीसदी तक बढ़त देखने को मिल रही है. हालांकि, एचडीएफसी, टीसीएस, अडानी पोर्ट्स एंड एसईजेड, महिंद्रा एंड महिंद्रा, एचडीएफसी बैंक और नेस्ले इंडिया के स्टॉक्स में गिरावट देखने को मिल रही है

बढ़त के साथ बंद हुआ है अमेरिकी बाजार

इसके पहले वॉल स्ट्रीट पर डाओ जोंस इंडस्ट्रियल एवरेज भी 257 अंक चढ़कर 31,118 अंकों पर बंद हुआ. नैस्डेक भी 260 अंकों की बढ़त के साथ 13,457 के स्तर पर बंद होने में कामयाब रहा. दरअसल, जो बाइडन के शपथ के बाद अमेरिकी बाजारों में रैली देखने को मिली.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More