बिहार कैबिनेट में 18 एजेंडे पर लगी मुहर; 19 फ़रवरी से शुरू होगा बिहार विधानसभा का सत्र, सरकारी स्कूल के बच्चों को सिले कपड़े मिलेंगे

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में बिहार कैबिनेट की आज बैठक हुई है. इस बैठक में 18 एजेंडों पर मुहर लगाईं गई है. बिहार विधान मंडल का इस वर्ष का पहला सत्र 19 फरवरी से बुलाया गया है. इसमें सत्रहवीं विधानसभा तथा विधान परिषद् के 197वे सत्र का शुभारंभ होगा. इस वर्ष का पहला सत्र होने की वजह से इसकी शुरुआत दोनों सदनों की सम्मिलित बैठक से होगी, जिसमें राज्यपाल का अभिभाषण होगा.

जीविका दीदी के सिले ड्रेस पहनेंगे स्कूली छात्र

मंगलवार को हुई कैबिनेट की बैठक में नीतीश सरकार ने निर्णय लिया है कि अब सरकारी स्कूल के बच्चों को सिले हुए ड्रेस दिए जाएंगे. पहली कक्षा से लेकर 12वीं क्लास तक पढ़ने वाले सभी छात्र-छात्राओं को साल में दो सेट ड्रेस दिया जएगा. सरकार ने यह भी आदेश दिया है कि जीविका दीदीयों के तरफ से बनाए गए ड्रेस ही लेने होंगे. जो भी एजेंसी ड्रेस की सप्लाई सरकारी स्कूलों में करेगी, उनके लिए अनिवार्य होगा कि जीविका दीदी से बनाए हुए ड्रेस ही खरीदें.

राज्य सरकार के प्रारंभिक सरकारी विद्यालयों में कुल 2.35 करोड़ छात्र-छात्राएं पढ़ाई कर रहे हैं. इन स्कूलों में दाखिला लेने वाले बच्चों में 51.6 फीसदी लड़के और 48.4 फीसदी लड़कियां हैं. वहीं, बिहार में सरकारी माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक विद्यालयों में कुल 36,61,942 विद्यार्थी पढ़ रहे हैं. वहीं, इस योजना से स्वयं सहायता समुह से जुड़ी 1.1 करोड़ महिलाओं को फायदा होगा। बिहार में जीविका के 10 लाख से ज्यादा समूह हैं, जो अलग अलग काम करती हैं.

कैबिनेट की बैठक में हुए अन्य मुख्य निर्णय

  • 19 फरवरी 2021 से सत्र की शुरुआत.
  • 24 मार्च तक चलेगा सदन.
  • विधान मंडल के दोनों सदन का संयुक्त बैठक एक साथ होगा शरू.
  • जीविका दीदी से सिले ड्रेस की खरीदारी करने पर फैसला.
  • जीविका दीदी के सिले पोषक पहनेगी स्कूल छात्राएं और छात्र.
  • पहली क्लास से 12वीं तक के स्टूडेंट को मिलेगा 2 सेट ड्रेस.
  • आतंकवादी, नक्सलवादी हिंसा और दंगे में मारे जाने वाले व्यक्तियों के परिजनों को 5 लाख रुपये का अनुदान.
  • किस्तों में मिलेगा अनुदान.
  • अनुदान राशि की 50 फीसदी राशि परिजन के सेविंग अकाउंट में सीधा होगा जमा.