13 साल की बच्ची के साथ तीन दिन तक 9 लोगों ने किया Gangrape, जिससे भी मदद मांगी, उसी ने बनाया हवस का शिकार, 8 अरेस्ट

मध्य प्रदेश के उमरिया में दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है. यहां 13 साल की बच्ची को तीन दिन तक नौ लोगों ने हवस का शिकार बनाया. यही नहीं, बच्ची ने जिससे भी मदद मांगी, उसी ने फायदा उठाया. परिजन के साथ थाने पहुंची किशोरी ने जब हालात बयां किए, तो सुनकर पुलिस की भी रूह कांप गई. कुल 9 लोगों ने युवती के साथ एक-एक करके रेप किया. गैंगरेप का ऐसा मामला सामने आने के बाद इलाके में हड़कंप मच गया है.

मध्य प्रदेश पुलिस ने गैंगरेप के इस मामले में अब तक कुल 8 लोगों को अरेस्ट किया है. जबकि एक फरार है. पुलिस के मुताबिक, पीड़ित युवती 11 जनवरी को सब्जी मंडी गई थी. वहां उसकी दो युवकों से मुलाकात हुई. फिर दोनों युवक युवती को बहला-फुसलाकर अपने साथ भरौला और छटन के जंगल की तरफ घुमाने ले गए और वहां उसके साथ गैंगरेप किया.

युवती के साथ गैंगरेप करने के बाद युवकों ने उसे एक ढाबे में बंधक लिया. इसके बाद युवक अपने कुछ और साथियों को वहां ले आए. उन लोगों ने भी युवती के साथ गैंगरेप किया. पीड़िता द्वारा पुलिस में दर्ज करवाई गई शिकायत के मुताबिक, आरोपियों से बहुत मिन्नतें करने के बाद उन्होंने युवती को कटनी जाने वाले ट्रक में बैठा दिया. इसके बाद ट्रक ड्राइवर ने भी युवती को अपनी हवस का शिकार बनाया.

इसके बाद ट्रक ड्राइवर ने पीड़ित युवती विलायत कला-बड़वारा के पास छोड़ दिया. यहां से युवती उमरिया में अपने घर जाने के लिए फिर एक ट्रक में सवार हुई तो इस ट्रक के ड्राइवर ने भी उसकी बेबसी का फायदा उठाया. इसके बाद युवती को उमरिया में छोड़ दिया गया. इस तरह से कुल मिलाकर युवती के साथ 9 लोगों ने बारी-बारी से रेप किया.

पीड़िता ने पुलिस को बताया कि बीते 4 जनवरी को भी आकाश नामक एक लड़के ने उसके साथ रेप किया था. आकाश के साथ उसके कई दोस्तों ने भी युवती के साथ गैंगरेप किया था.

उमरिया के एसपी विकास शाहवाल ने बताया कि गैंगरेप के दो मामले दर्ज किए गए हैं. गैंगरेप के इन मामलों में 9 आरोपियों के खिलाफ पॉक्सो एक्ट और आईपीसी की धारा 376 के तहत केस दर्ज किया गया है. 8 आरोपियों को अरेस्ट किया जा चुका है जबकि एक फरार युवक की तलाश की जा रही है.