बोकारो: दामाद की नाबालिग बहन से करता रहा दुष्कर्म, पीड़िता के गर्भवती हाेने पर मामले का खुलासा हुआ

बोकारो: पैसे के लालच में एक भाई की ओर से उसकी बहन की अस्मत से खिलवाड़ कराए जाने का घिनौना मामला रविवार को सामने आया. मामला बोकारो के सेक्टर-12 थाना क्षेत्र का है. आरोप है कि भाई अपनी 15 वर्षीय नाबालिग बहन का अपने ससुर से दुष्कर्म कराने में शामिल रहा. जब पीड़िता गर्भवती हुई तो उसके बाद मामले का खुलासा हुआ.

पीड़िता का भाई पड़ोस में ही परिवार से अलग रहता है. यहां अक्सर उसके बड़े भाई के ससुर आते थे और जबरन शारीरिक संबंध बनाते थे. पीड़िता ने घटना को लेकर सेक्टर-12 थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई है. थाना प्रभारी उज्जवल साह ने पोक्सो एक्ट के तहत FIR दर्ज करते हुए घटना में शामिल पीड़िता के भाई और उसके ससुर श्रवण कुमार शर्मा (55) को न्यायिक हिरासत में लेकर चास जेल भेज दिया है. वहीं, पीड़िता को मेडिकल जांच के लिए सदर अस्पताल भेजा गया है. थाना प्रभारी ने बताया कि पीड़िता के पास से आरोपी के लिखे हुए प्रेम पत्र भी घरवालों के हाथ लगे हैं. उसके बाद पीड़िता से जब पूछताछ की गई तो पूरे मामले की जानकारी मिली.

अक्टूबर से लगातार बना रहा था शारीरिक संबंध

नाबालिग का आरोप है कि बीते अक्टूबर में दुर्गा पूजा के समय से ही उसके भाई ने पैसा लेने के चक्कर में उसे अपने ससुर के हवाले कर दिया. इस बीच जब भी वह धनबाद से आता ताे डराकर रात के अंधेरे में अपने कमरे में लेकर दुष्कर्म करता. कई बार आरोपी घर से उसे घुमाने के लिए ले जाता था और जबरन संबंध बनाया करता था. हाल के दिनों में आरोपी उसके घर के बगल में रहने वाले बड़े भाई के यहां रहने लगा था. नाबालिग का कहना है कि जब उसकी तबीयत खराब होने लगी तो उसने अपने घर वालों को इसकी जानकारी दी.

पत्नी की मौत के बाद आरोपी लगातार आता था अपनी बेटी के घर

आरोपी श्रवण कुमार शर्मा धनबाद का रहने वाला है. जब उसकी पत्नी की मौत हो गई, उसके बाद से वह अपनी बेटियों के घर आकर रहता था. इस बीच उसकी बुरी नजर अपने दामाद की छोटी बहन पर पड़ी. वह बहला-फुसलाकर उसे अपने झांसे में लेकर यौन संबंध बनाने लगा. जब इसकी जानकारी पीड़िता ने अपने भाई को दी तो भाई भी पीड़िता का सहयोग न देकर अपने ससुर के पक्ष में खड़ा हो गया.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More