COVID-19: गृह मंत्रालय ने 31 जनवरी तक सख्त निगरानी और एहतियात बरतने के दिशानिर्देश किए जारी

गृह मंत्रालय ने देश में कोरोना के मामलों और उसके नए स्ट्रेन के फैलाव को देखते हुए नई गाइडलाइंस जारी की है. कोरोना के मामलों की निगरानी के लिए गृह मंत्रालय (एमएचए) ने पहले के दिशानिर्देशों का 31 जनवरी 2021 तक लागू रहने के लिए विस्तार किया है. गृह मंत्रालय ने कहा कि कंटेनर जोन को सावधानीपूर्वक सीमांकित किया जाना जारी रखा जाएगा. इसके साथ ही इन ज़ोन के भीतर निर्धारित रोकथाम के उपायों का सख्ती से पालन किया जाना जरूरी होगा.  कोविड-19 (Covid-19) उपयुक्त व्यवहार को बढ़ावा दिया जाना और सख्ती से लागू किया जाएगा.

गृह मंत्रालय ने जो निर्देश जारी किए हैं उनके मुताबिक भारत में भले ही कोरोना के एक्टिव केस (Corona Active Case) कम हुए हैं लेकिन विश्व स्तर पर कोरोना के मामलों में उछाल को ध्यान में रखते हुए निगरानी, रोकथाम और सावधानी बनाए रखने की आवश्यकता है. ब्रिटेन में कोरोना वायरस (UK Coronavirus New Strain) के नए स्ट्रेन को देखते हुए एहतियातन कदम उठाए जा रहे हैं. गृह मंत्रालय ने निर्देश दिए हैं कि कंटेनमेंट जोन में लागू नियमों का लगातार सख्ती से पालन होगा. 

बता दें कि ब्रिटेन में कोरोना के नए स्ट्रेन ने तबाही मचा रखी है. यूरोपीय देशों से आने वाली फ्लाइट्स को तमाम देशों ने रोक दिया है. ब्रिटेन में कोरोना का नया स्ट्रेन मिलने बाद भारत सरकार ने भी 31 दिसंबर तक ब्रिटेन से आने वाली फ्लाइट पर रोक लगा दी है. महाराष्ट्र सरकार ने इस बाबत अलग से एसओपी जारी की है. 

स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, भारत में फिलहाल कोरोना के सक्रिय मामले 2,77,301 हैं. कुल मामलों के केवल 2.72 फीसदी सक्रिय केस हैं. कुल सक्रिय मामलों में 1389 पिछले 24 घंटे में कम हुए हैं. 1 महीने से ज्यादा वक्त से हर दिन ठीक होने वालों की संख्या नए आ रहे मामलों से ज्यादा रह रही है. देश में कोरेाना के मामलों की रिकवरी रेट बढ़कर 95.83 फीसदी हो चुका है.

गौरतलब है कि भारत में सोमवार को कोरोना वायरस के 20,021 नए मामले रिपोर्ट हुए हैं और 279 लोगों की मौत हुई है. देश में कुल केस 1,02,07,871 हो चुके हैं. अब तक 1,47,901 की मौत हुई है.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More