WHO का बड़ा एलान: साल के अंत तक तैयार हो सकती है कोरोना वायरस वैक्सीन

कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण से दुनियाभर के लोग परेशान हैं और डरे हुए हैं. अब तक तीन करोड़ 59 लाख से अधिक लोग इस वायरस की चपेट में आकर संक्रमित हो चुके हैं जबकि साढ़े दस लाख से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है. इस जानलेवा वायरस के प्रकोप से बचने के लिए वैक्सीन बनाई जा रही है, जिसका इंतजार पूरी दुनिया को है. इस बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रमुख टेड्रोस अधानोम ने एक बड़ा एलान किया है. आखिरकार उन्होंने बता दिया है कि कोरोना वैक्सीन कब तक तैयार हो सकती है.

विश्व स्वास्थ्य संगठन के कार्यकारी बोर्ड की बैठक में टेड्रोस अधानोम ने कहा कि हमें कोरोना वैक्सीन की जरूरत होगी और उम्मीद है कि इस साल के अंत तक हमें एक वैक्सीन मिल सकती है. उन्होंने वैक्सीन के उपलब्ध होने पर समान रूप से उसके वितरण को सुनिश्चित करने के लिए सभी नेताओं के बीच एकजुटता दिखाने का आह्वान किया.

कोरोना वायरस को लेकर सोमवार को हुई डब्लूएचओ के 34 सदस्यीय कार्यकारी बोर्ड की बैठक में डॉ माइकल रेयान ने कहा कि शहरी और ग्रामीण इलाकों में संख्या में परिवर्तन हो सकता है. उन्होंने स्पष्ट किया कि इसका मतलब यह नहीं है कि दुनिया की बड़ी आबादी खतरे में है. उन्होंने कहा कि दुनियाभर में हर 10 में से एक व्यक्ति कोरोना वायरस से संक्रमित हो सकता है.

दिग्‍गज दवा निर्माता कंपनी फाइजर कंपनी को उम्मीद है कि इस साल अक्टूबर की शुरूआत में उसे रेगुलेटरी से अप्रूवल मिल जाएगा और साल के अंत तक वह कोविड-19 वैक्सीन बाजार में उतार देगी. फाइजर अपने जर्मन साझेदार बायोएनटेक के सहयोग से वैक्सीन विकसित कर रही है.कंपनी ने वैक्सीन की 10 करोड़ खुराक देने के लिए अमेरिकी सरकार के साथ लगभग दो अरब डॉलर का सौदा भी किया है.

माना जा रहा है कि ऑक्सफोर्ड की वैक्सीन अगले साल की शुरुआत में बाजार में आ सकती है. फिलहाल कई देशों में इसके तीसरे चरण का ट्रायल चल रहा है. वैसे इस वैक्सीन को रेस में सबसे आगे माना जा रहा था, लेकिन ट्रायल के दौरान एक व्यक्ति के बीमार पड़ जाने के कारण ट्रायल को कुछ दिन के लिए बीच में ही रोक दिया गया था. इस वजह से माना जा रहा है कि वैक्सीन लॉन्च होने में देरी हो सकती है.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More