गया में नाबालिग लड़की को अगवा कर गैंगरेप, पीड़िता ने लगाई फांसी

बिहार के गया जिले से एकबार फिर मानवता को शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है. कोंच थाना में नाबालिग किशोरी के साथ सामूहिक दुष्कर्म का मामला प्रकाश में आया है. इस कृत्य से आहत किशोरी ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. मामले को लेकर शुक्रवार को कोंच थाने नाबालिग के स्वजनों ने प्राथमिकी दर्ज कराई है. पीड़ित परिवार ने तीन को नामजद व एक अज्ञात युवक के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराई है.थानाध्यक्ष प्रशांत कुमार ने बताया कि पीड़ित स्वजनों के आवेदन पर प्राथमिकी दर्ज की गई है. प्राथमिकी में 376डी, पोस्को व एससी-एसटी एक्ट में मामला दर्ज है. 

स्वजनों के अनुसार में घटना 29 सितंबर की है. इस दिन पड़ोस में एक जन्मदिन की पार्टी थी. उस पार्टी में किशोरी गई थी. वहां से लौटते वक्त उसे रास्ते से उठा लिया गया और गैंगरेप किया गया.

दरिंदों ने रात भर हैवानियत का खेल खेला. इधर, लड़की के घर नहीं लौटने पर परिजन ने रातभर उसकी खोजबीन की, पर कुछ पता नहीं चल सका. घटना के दूसरे दिन सुबह में परिजन को बच्ची के एक घर में होने का पता चला तो वहां पहुंचे और उसे घर लाए.

परिजन ने पूछताछ की तो गैंगरेप से सहमी नाबालिग ने हैवानियत की दर्दनाक दास्तान बताई. वहीं परिजनों और लोकलाज की चिंता ने उसे इस कदर विचलित कर दिया कि वह अपने घर के एक कमरे में गई और दरवाजा बंद कर दुपट्टे को गले में बांधकर फांसी लगा ली. घर के लोगों को इसकी शंका हुई तो उन्होंने दरवाजा तोड़ा और अंदर आए तो लड़की को फांसी के फंदे से झूलते पाया.

आनन-फानन में उसे फंदे से उतारा गया और इलाज के लिए गया के प्राइवेट क्लीनिक पहुंचे. गया में गंभीर हालत में देख उसे पटना रेफर कर दिया गया. पटना में निजी क्लीनिक में इलाज के दौरान युवती की एक अक्टूबर को मौत हो गई. इसके बाद परिजन शव को लेकर वापस लौटे और कोंच थाना पहुंचे.

घटना की जानकारी होते ही पुलिस हरकत में आई और दरिंदों की गिरफ्तारी के प्रयास में जुट गई थी. लड़की की मां के बयान पर कोंच थाने में चंदन, राहुल, टुनटुन और एक अज्ञात शख्स पर एफआईआर दर्ज की गई है.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More