मानवता हुई शर्मसार: प्रेमी जोड़े को आपत्तिजनक हालत में ग्रामीणों ने पकड़ा; लोगों ने अर्धनग्न कर जूते-चप्पल की माला पहनाकर पूरे गांव में घूमाया

झारखंड के साहिबगंज जिले के रंगा थाना क्षेत्र से मानवता को शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है. सामाजिक परंपराओं एवं पिछड़े सोच के तहत एक प्रेमी जोड़े को अर्धनग्न कर जूते-चप्पल की माला पहनाकर पूरे गांव में घुमाए जाने का मामला सामने आया. सोशल मीडिया पर पूरे घटनाक्रम का वीडियो वायरल हो रहा है. घटना की जानकारी मिलने के बाद पुलिस ने काफी मशक्कत के बाद प्रेमी युगल को ग्रामीणों के चंगुल से बचाया और थाना लेकर आई. ग्रामीणों के खिलाफ रांगा थाना में प्राथमिकी दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जा रही है.

जानकारी के अनुसार, तीन पहाड़ थाना क्षेत्र के बाकुडी निवासी युवती जो शिवा पहाड़ में अपने रिश्तेदार के घर रहती थी, उसकी शादी मोदी कोला गांव के एक युवक के साथ हुई थी. लेकिन उसका प्रेम प्रसंग एक अन्य युवक जूही बोना गांव निवासी युवक से चल रहा था. दोनों प्रेमी युगल गुरुवार की देर रात शिवा पहाड़ गांव के निकट एमजीआर रेलवे लाइन के पास पहुंचा. यहां ग्रामीणों ने दोनों को आपत्तिजनक हालत में पकड़ लिया और बंधक बना लिया.

इसके बाद प्रेमी जोड़े को गांव लाकर अर्धनग्न किया गया और फिर जूते-चप्पल की माला पहना कर पूरे गांव में घुमाया गया. शुक्रवार को आसपास के गांव के लोग शिवा पहाड़ पहुंचे और युवक के परिजनों को बुलाया. इसके बाद गांव में बैठक हुई. पकड़े गए युवक के ऊपर 5 लाख का जुर्माना लगाया गया.

इधर, मामले की जानकारी मिलते ही बरहरवा एसडीपीओ प्रमोद कुमार मिश्रा के नेतृत्व में रांगा थाना पुलिस, बरहरवा थाना पुलिस, राधा नगर थाना पुलिस, बरहेट थाना पुलिस मौके पर पहुंचकर युवक और युवती को भीड़ के चंगुल से मुक्त कराया और अपने कब्जे में लिया. हालांकि इस दौरान ग्रामीणों ने पुलिस की कार्रवाई का विरोध किया. उग्र भीड़ को संभालने के लिए एसडीपीओ ने पुलिस लाइन से और भी फोर्स मंगाया. इसके बाद भीड़ को समझा कर पुलिस प्रेमी जोड़े को अपने साथ थाना ले आई.

 पुलिस वायरल वीडियो का जांच कर रही है. कानून हाथ में लेने वालों को किसी भी सूरत में नहीं बख्शा जाएगा. उन्होंने घटना के कारण समाज में प्रचलित पारंपरिक परंपराओं को बताया है. अभी तक इस मामले में किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More