दरभंगा में महिला पुलिसकर्मी ने एक पुलिस अधिकारी पर लगाया संगीन आरोप: महिला ने कहा- शारीरिक संबंध बनाने का दे रहा था दबाव

बिहार पुलिस विभाग में कास्टिंग काउच का सनसनीखेज मामला सामने आया है. यहां एक महिला पुलिसकर्मी ने दरभंगा के आईजी दफ्तर में तैनात एक पुलिस अधिकारी पर गंभीर आरोप लगाते हुए आइजी से लिखित शिकायत भी की है.

महिला ने अपनी लिखित शिकायत में कहा है कि उनके दफ्तर में तैनात पुलिस अधिकारी शुभ करण ओझा ने न सिर्फ उनके साथ अश्लील हरकत की बल्कि उनके बदन और प्राइवेट पार्ट को गलत नीयत से छूने जैसी हरकत भी की. साथ ही महिला ने यह भी कहा कि वे सरकारी कामकाज निपटारे के लिए आईजी दफ्तर जाया करती थीं, तभी जान पहचान हुई और एक निजी काम कराने के बदले शुभ करण ओझा उनके करीब आए. उसके बाद फोन पर अश्लील बातें और अश्लील मैसेज करने लगे. 

अपने बड़े अधिकारी की बात समझ महिला पुलिसकर्मी बहुत कुछ बर्दाश्त करती रही लकिन जब शारीरिक संबंध बनाने पर जोर दिया गया तब उसके बर्दाश्त की सीमा टूट गई और इसकी लिखित शिकायत सीधे दरभंगा के आईजी की. साथ में अश्लील मैसेज और अश्लील बातों के ऑडियो भी सबूत के तौर पर दिए. 

मामला सामने आते ही आईजी ने पूरे मामले की जांच एसएसपी को करने का आदेश दिया जिसके बाद पुलिस विभाग में खलबली मच गई है. एसएसपी ने गंभीरता के साथ जांच शुरू भी कर दी है.  

महिला ने कैमरे पर बताया कि यहां महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं. महिला पुलिसकर्मी उनकी डिमांड पूरी कर दें तो उसे ड्यूटी करने में सहूलियत दी जाती है नहीं तो उसे तंग और तबाह किया जाता है. महिला की मानें तो पुलिस विभाग में कास्टिंग काउच जमकर है. तभी रह-रह कर विभाग के लोगों की अश्लील तस्वीरें बाहर आती रहती हैं लेकिन कोई महिला पुलिसकर्मी डर से अपनी बात नहीं रख पाती लेकिन वह पीछे हटनेवाली नहीं. दामिनी दोनों आरोपियों के लिए सख्त सजा की मांग कर रही है.

महिला ने कहा कि शिकायत के कई दिन बीत जाने के बाद भी आरोपी मस्ती में घूम रहा हैं और जांच के नाम पर उन्हें तंग किया जा रहा है. उन्हें यहां से न्याय मिलने की कोई उम्मीद नहीं दिखी, जिसके बाद उसने मीडिया का सहारा लिया है. दामिनी ने बताया कि शिकायत के बाद उनके ऊपर बहुत दबाव बनाया जा रहा है कि मामले को पैसे लेकर रफा-दफा कर दो, यह सब छोटी-मोटी बात है. ऐसा यहां चलता रहता है लेकिन दामिनी ने डंके की चोट पर कहा इज्जत बेचकर वह नौकरी नहीं करेगी.

इधर पूरे मामले पर दरभंगा के एसएसपी बाबू राम ने कहा कि दो शिकायत उन्हें महिला सिपाही के तरफ से मिली हैं जिसमें एक सिपाही के ऊपर पैसों के लेन-देन और धमकी देने का आरोप लगाया गया है और दूसरी शिकायत में एक पुलिस के अधिकारी पर अश्लील हरकत करने और अश्लील बातें करने का आरोप लगाया गया है. दोनों मामलों की जांच शुरू कर दी गई है. आरोप सिद्ध होने पर जरूरी कार्रवाई की जायेगी.

साथ ही पीड़ित महिला की सुरक्षा की जिम्मेवारी दरभंगा डीएसपी को दी गई है. फिलहाल पूरे मामले की जांच आतंरिक परिवार समिति से कराई जा रही है ताकि महिला किसी दबाब के बिना अपनी पूरी बात रख सके और महिला द्वारा दिए सभी सबूत की बारीकी से जांच हो सके. दूसरी तरफ पुलिस सूत्रों की मानें तो आरोप लगने के तुरंत बाद आरोपी आईजी के रीडर शुभ करण ओझा छुट्टी लेकर लापता है.  

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More