मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक में PM मोदी ने कहा- 72 घंटे में कर लें मरीज की पहचान तो जीत लेंगे कोरोना से जंग

 भारत में तमाम उपायों के बावजूद कोरोना वायरस का संक्रमण फैलता जा रहा है. कोरोना संकट पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज सबसे ज्यादा कोरोना प्रभावित राज्य आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल, महाराष्ट्र, पंजाब, बिहार, गुजरात, तेलंगाना और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्रियों के साथ वर्चुअल बैठक की.

इस बैठक में उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ, तमिलनाडु के सीएम के पलानीस्वामी, पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी, पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह, तेलंगाना के सीएम के चंद्रशेखर राव, महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे, गुजरात के सीएम विजय रूपानी और बिहार के सीएम नीतीश कुमार शामिल हुए. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी इस बैठक में भाग लिया.

 इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि जिन राज्यों में टेस्टिंग रेट कम है और जहां पॉजिटिविटी रेट ज्यादा है, वहां टेस्टिंग बढ़ाने की जरूरत है. खासतौर पर बिहार, गुजरात, यूपी, पश्चिम बंगाल और तेलंगाना में टेस्टिंग बढ़ाने पर खास बल देने की बात इस समीक्षा में निकली है.

72 घंटे के भीतर परीक्षण

बैठक में पीएम ने कहा कि अगर हम शुरुआत के 72 घंटों में ही मामलों की पहचान कर लें, तो ये संक्रमण काफी हद तक नियंत्रित किया जा सकता है. इसलिए, यह महत्वपूर्ण है कि संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने वाले सभी लोगों का 72 घंटे के भीतर परीक्षण किया जाना चाहिए।.उन्होंने कहा अब तक का हमारा अनुभव है कि कोरोना के खिलाफ कंटेनमेंट, कांटेक्ट ट्रेसिंग और सर्विलांस, सबसे प्रभावी हथियार है.

उन्होंने कहा कि टेस्टिंग की संख्या बढ़कर हर दिन 7 लाख तक पहुंच चुकी है और लगातार बढ़ भी रही है. इससे संक्रमण को पहचानने और रोकने में मदद मिल रही है. हमारे यहां औसत मृत्यु दर पहले भी दुनिया के मुकाबले काफी कम थी, संतोष की बात है कि ये लगातार और कम हो रही है. रिकवरी रेट भी लगातार बढ़ता जा रहा है. इसका मतलब है कि हमारे प्रयास सिद्ध हो रहे हैं.

उन्होंने कहा कि आज 80 प्रतिशत एक्टिव मामले इन दस राज्यों में हैं, इसलिए कोरोना के खिलाफ लड़ाई में इन सभी राज्यों की भूमिका बहुत बड़ी है. आज देश में एक्टिव मामले 6 लाख से ज़्यादा हो चुके हैं, जिनमें से ज़्यादातर मामले हमारे इन दस राज्यों में ही हैं.

इन सबके बीच देश में कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या 22 लाख 68 हजार 676 और मृतकों की संख्या 45,257 हो गई है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से सुबह आठ बजे जारी आंकडों के मुताबिक बीते चौबीस घंटे के दौरान 53,601 नए मामले सामने आए और 871 लोगों की मौत हुई. कुल 15 लाख 83 हजार 490 मरीज पूरी तरह से ठीक हो चुके हैं और सक्रिय मामले छह लाख 39 हजार 929 रह गए हैं. मरीजों के स्वस्थ होने की दर बढ़कर 69 फीसद हो गई है.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More