पंजाब: जहरीली शराब पीने से 31 लोगों की मौत, CM अमरिंदर सिंह ने दिए जांच के आदेश

चंडीगढ़: पंजाब के तीन जिलों में तरनतारन, अमृतसर और गुरदासपुर के बटाला क्षेत्र में जहरीली शराब पीने से 31 लाेगाें की मौत से हड़कंप मच गया है. राज्‍य में नशे पर काबू पाने का दावा करने वाली कैप्‍टन अमरिंदर सरकार सक्रिय हो गई है. गांवों में घरों में अवैध तरीके से शराब बनाने की बातों से खुलासे से सरकार और पुलिस के दावे पर बड़ा सवाल उठ गया है. मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह मामले की मजिस्‍ट्रेट जांच की घोषणा की है.

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अमृतसर, बटाला और तरनतारन में अवैध शराब पीने से हुई 31 व्यक्तियों की संदिग्ध मौत के मामले में  जालंधर के डिविजनल कमिश्नर को मजिस्ट्रियल जांच करने के आदेश दिए हैं. इस जांच में ज्वाइंट एक्सरसाइज एंड टैक्सेशन कमिश्नर और संबंधित जिलों के पुलिस अधीक्षक भी शामिल होंगे. जांच टीम इन मौतों के कारणों और अन्य संबंधित विषयों की जांच करेगी.

मुख्यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने अपने आदेश में कहा है कि जालंधर के डिविजनल कमिश्नर अगर जरूरत महसूस करें तो इस जांच में किसी भी नागरिक व पुलिस अधिकारी की सहायता ले सकते हैं और किसी विशेषज्ञ को भी जांच में शामिल कर सकते हैं. उन्होंने कहा है कि इस मामले में किसी भी जिम्मेदार व्यक्ति को बख्शा नहीं जाएगा. अब तक इस मामले में एक महिला को गिरफ्तार किया जा चुका है. बलविंदर कौर नामक यह महिला अमृतसर के तरसिक्का थाना क्षेत्र से गिरफ्तार की गई है.

मामले की जांच के लिए अमृतसर के एसएसपी ने एसआईटी का गठन कर दिया है. गौरतलब है की अवैध शराब से मौत का पहला मामला अमृतसर में ही सामने आया था. अवैध शराब का शिकार बने जसविंदर सिंह, कश्मीर सिंह, कृपाल सिंह और जसवंत सिंह का पोस्टमार्टम आज किया जाएगा. इससे उनकी मौत का वास्तविक कारण पता लग पाएगा. कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पंजाब पुलिस को अवैध शराब  बनाने और बेचने वालों के खिलाफ सख्ती से अभियान आरंभ करने की आदेश दिया.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More