WHO ने जारी की नई गाइडलाइन: हवा में भी फैल रहा है कोरोना वायरस

कोरोना वायरस का संक्रमण हवा के जरिए भी फैलता है और इस बारे में लगभग 32 देशों के वैज्ञानिकों ने दावा भी किया था जिसके बाद WHO ने कोरोना वायरस संक्रमण फैलने के माध्यम में हवा को भी शामिल किया है. इस बारे में विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने अब नई गाइडलाइन जारी की है. इसमें कुछ ऐसी प्रमुख बातें भी बताई गई हैं जिनके बारे में लोगों को जरूर जाना चाहिए ताकि हवा के जरिए फैलने वाले कोरोना वायरस संक्रमण से बचने के लिए जरूरी कदम समय पर उठाया जा सके.

ऐसी जगह जहां वेंटिलेशन नहीं होता जैसे कि रेस्टॉरेंट, फिटनेस जिम आदि जगहों पर संक्रमण के हवा में फैल सकता है, WHO ने माना कि ऐसा संभव है. ऐसा विशेष रूप से इंडोर स्थानों में संक्रमित व्यक्ति के साथ लंबे समय तक रहने से हो सकता है. हालांकि, संगठन ने यह भी कहा कि इस विषय में तत्काल गहन शोध किये जाने की ज़रूरत है. मौजूदा सबूतों की समीक्षा के आधार पर, डब्ल्यूएचओ ने कहा कि वायरस दूषित सतहों के प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष संपर्क और संक्रमित व्यक्ति के ज्यादा करीब आने से लोगों में फैलता है, जब संक्रमित व्यक्ति खांसता, छींकता है, सांस लेता, बोलता या गाता है, तो वायरस हवा में फैलकर दूसरों को भी संक्रमित कर सकता है.

इसलिए लोगों को सबसे पहले इस बात के लिए ज़रूर सतर्क हो जाना चाहिए कि वह ऐसी जगह पर जाने से बचें जहां पर भीड़-भाड़ हो. हालांकि, विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इस बारे में यह बताया है कि वह अभी भी दुनिया के अलग-अलग देशों के वैज्ञानिकों के साथ मिलकर इस पर काम कर रहा है कि हवा के जरिए कोरोना वायरस अन्य किन जगहों पर और किस प्रकार से फैल सकता है.

WHO की गाइडलाइन

– डब्ल्यूएचओ गाइडेंस स्वीकार करता है कि कोरोना वायरस विशिष्ट चिकित्सा प्रक्रियाओं के दौरान हवा में फैल सकता है. लिहाज़ा इन परिस्थितियों में, चिकित्सा कर्मियों को पर्याप्त रूप से हवादार कमरे काम करना चाहिए.

– साथ ही चिकित्सा कर्मियों को N95 मास्क और अन्य सुरक्षात्मक उपकरण पहनने की सलाह दी गई है.

– वायरस के फैलाव को लेकर WHO के जोखिम आकलन में कोई भी बदलाव 1-मीटर (3.3 फीट) की फिजिकल दूरी की सलाह को भी प्रभावित कर सकता है. ऐसी स्थिति में सभी देशों को वायरस के प्रसार को रोकने के उद्देश्य से सार्वजनिक स्वास्थ्य उपायों में बदलाव करना पड़ेगा.

– आम लोगों को भी सतर्क हो जाना चाहिए कि वह ऐसी जगह पर जाने से बचें जहां भीड़-भाड़ हो.

– आपस में कम से कम 3 फीट की दूरी बनाए रखें और दिन में कई बार साबुन और पानी से हाथ धोएं.

– अपने चेहरे को बार-बार न छुएं.

– छींकते या खांसते वक्त टिशू का इस्तेमाल करें और फिर उसे कूड़ेदान में फौरन फेंक दें.

– अगर आपके घर में कोरोना का मरीज़ है तो घर का वेंटीलेशन अच्छा रखें और साथ ही हर वक्त मस्क पहनें.

– ऐसी जगह न जाएं, जहां वेंटीलेशन न हो. 

– अपनी इम्यूनिी का ख्याल रखें. समय पर खाएं और सोएं. रोज़ाना वर्कआउट करें.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More