बड़ी खबर: अगले सप्ताह पटना AIIMS में भी होगा COVAXINE का ट्रायल

पटना: औषधि महानिदेशक की अनुमति के बाद अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, पटना एम्स, में अगले सप्ताह से कोरोना वैक्सीन का ह्यूमन ट्रायल होगा. एम्स की ओर से कवायद आरंभ कर दी गई है. 

ICMR और भारत बायोटेक की साझेदारी से तैयार इस वैक्सीन का जानवरों पर परीक्षण सफल रहा है. अब इसके मानव परीक्षण की प्रक्रिया शुरू हो गई है.पटना एम्स के निदेशक डॉक्टर पीके सिंह ने बताया कि शनिवार को संबंधित कंपनी व विभागीय अधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग पर चर्चा होगी. इसके बाद ये वैक्सीन आएगी. दवा की डोज देने को पहले डॉक्टरों को प्रशिक्षित किया जाएगा. इसके बाद ट्रायल आरंभ होगा.

इस संबंध में आईसीएमआर के डायरेक्टर जनरल बलराम भार्गव ने वैक्सीन बनाने वाली कंपनी भारत बायोटेक और इसका क्लीनिकल ट्रायल करने वाली 12 संस्थाओं को चिट्ठी लिखी है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक ये 12 संस्थाएं आंध्रप्रदेश, हरियाणा, महाराष्ट्र, बिहार, कर्नाटक, तेलंगाना, उत्तरप्रदेश, तमिलनाडु और ओडिशा में हैं.

आपको बता दें भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषषद आइसीएमआर के महानिदेशक डॉक्टर बलराम भार्गव की ओर से गुरवार को वैक्सीन के ट्रायल के लिए चुने गए एक दर्जन संस्थानों को लिखे गए पत्र से साफ होता है कि भारत दुनिया के अन्य देशों को पीछे छोड़ने की तैयारी में है. डॉक्टर भार्गव के अनुसार इस वैक्सीन का ह्यूमन ट्रायल जल्द से जल्द पूरा करने का फैसला किया गया है ताकि 15 अगस्त को इसे आम लोगों के लिए लांच किया जा सके. 

ICMR ने क्लीनिकल ट्रायल करने वाली संस्थाओं से कहा है कि 7 जुलाई से Corona Vaccine का क्लीनिकल ट्रायल शुरू करना चाहिए, इसमें बिल्कुल देरी नहीं होनी चाहिए, ताकि नतीजे आने के बाद 15 अगस्त तक वैक्सीन लॉन्च की जा सके. हालांकि, अंतिम परिणाम सभी क्लीनिकल ट्रायल कामयाब होने पर ही निर्भर करेगा.

बता दे कि देश में कोरोना की पहली वैक्सीन ‘कोवैक्सीन’ को हैदराबाद की फार्मा कंपनी भारत बायोटेक ने तैयार किया है. इसे आईसीएमआर और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी, पुणे के साथ मिलकर बनाया गया है. जानवरों पर इसका ट्रायल कामयाब रहा है. इंसानों पर परीक्षण के लिए इसे हाल ही में मंजूरी मिली है. ये ट्रायल इसी महीने शुरू हो रहे हैं.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More