नोएडा में महिला के साथ चलती बस में रेप, केस दर्ज

उत्तर प्रदेश के नोएडा में एक महिला के साथ चलती बस में रेप की घटना हुई है.घटना के बारे में बताया जा रहा है कि महिला प्रतापगढ़ से नोएडा जा रही थी. बस के ड्राइवर और कंडक्टर ने रेप की घटना को अंजाम दिया है. इसके बाद ड्राइवर बस लेकर फरार हो गया.  नोएडा पहुंचने पर महिला ने अपने साथ हुई घटना के बारे में अपने पति को बताया. पति ने सेक्टर 20 थाना पुलिस को शिकायत की. इसके बाद पुलिस ने बस को बरामद कर लिया है, एक की गिरफ्तारी हो गई है और पुलिस मुकदमा दर्ज कर जांच की बात कह रही है.

पीड़ित महिला ने बताया कि ड्राइवर ने पहले उसे आगे स्लीपर सीट दी. इसके बाद वह और पैसे मांगने लगा. महिला ने कहा कि आप मुझे जहां उतारेंगे, वहां मेरा पति मिलेंगे, वह पैसे दे देंगे. उसके बाद उसने सबसे पीछे वाली सीट पर ले जाकर बिठा दिया, वहां कोई नहीं था. इसके बाद ड्राइवर थोड़ी देर बाद आया और मेरे साथ जोर-जबरदस्ती करने लगा. उसने मेरा हाथ बांध दिया और गलत काम किया. साथ ही बोला कि ज्यादा चिल्लाओगी तो जान से मार दूंगा. मेरे दो बच्चे हैं, मैं डर गई थी. मैं कुछ नहीं बोल पाई. इसके बाद कंडक्टर और एक और लड़के ने कहा पैसा ले लीजिए और बात खत्म कर दीजिए.

इसके बाद महिला ने अपने पति को फोन पर आपबीती बता दी. इसके बाद इन्होंने मुझे बस से उतार दिया और उसी दौरान मेरा पति और एक और लड़का बस पर चढ़ गए. मैं बस के पीछे-पीछे रिक्शा से गई. सेक्टर 62 में ड्राइवर चलती बस से कूदकर भाग गया. पीड़िता ने कहा कि वह पहली बार आई है, उसे नहीं पता कि किस जगह उसके साथ ये घटना हुई. उसने बताया कि बस में 10 से 12 लोग थे.

मामले में डीसीपी महिला सुरक्षा वृंदा शुक्ला ने बताया कि आज सुबह पुलिस को एक चलती बस में रेप की घटना की सूचना प्राप्त हुई थी. ये घटना रात में चलने वाली एसी स्लीपर बस की है, जो प्रतापगढ़ से गौतमबुद्धनगर आ रही थी. पीड़िता द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार बस जब लखनऊ से मथुरा के रास्ते पर थी, तो उस दौरान रात के समय ये घटना घटी है. सूचना प्राप्त होने पर तुरंत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. एफआईआर में नामित अभियुक्तों में से एक की गिरफ्तारी कर ली गई है, बस को सीज कर दिया गया है. बचे हुए नामित अभियुक्तों और बस के मालिक की गिरफ्तारी के लिए टीम रवाना कर दी गई हैं. पीड़िता का मेडिकल जांच मेडिकल बोर्ड से कराई जा रही है. साथ ही बस में सह यात्रियों को ढूंढकर बयान किए जा रहे हैं, ताकि मामले में जल्द से जल्द चार्जशीट दाखिल हो और अभियुक्तों को सजा मिले.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More