बिहार में बच्चा जन्म देने के 2 दिन बाद कोरोना संक्रमित महिला ने दम तोड़ा, प्रदेश में अब तक 35वीं मौत

गया में मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती जहानाबाद निवासी एक और कोरोना संक्रमित पेशेंट ने दम तोड़ दिया. इसके साथ ही बिहार में कोरोना से मरने वालों की संख्या बढ़कर 35 तक पहुंच गई है.

दरअसल जहानाबाद निवासी गर्भवती महिला कोरोना पॉजिटिव पाई गई थी. बीते छह जून को पति-पत्नी और बेटे को गया मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था. जहां बीते दो दिन पहले महिला ने बच्चे को जन्म दिया था. गुरुवार की अहले सुबह महिला मौत हो गई वहीं बच्ची स्वास्थ्य है.

वहीं महिला के पति प्रभु कुमार और उसके 8 साल के बेटे की रिपोर्ट गुरुवार को नेगेटिव आई है. उधर घटना के बाद पति ने डॉक्टरों पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए कहा आइसोलेशन वार्ड में रात में कोई डॉक्टर नहीं थे.

स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी कोरोना अपडेट के अनुसार ये मरीज नवादा में 1, बेगूसराय में 3, पूर्णिया में 2, सीवान में 23, जमुई में 2, औरंगाबाद में 2, भागलपुर में 3, बक्सर में 2, कटिहार में 4, लखीसराय में 1, किशनगंज में 3, गया में 2, सारण में 5, दरभंगा में 1, भोजपुर में 9, कैमूर में 10, मधेपुरा में 16, शेखपुरा में 3, समस्तीपुर में 3, सीतामढ़ी में 1, मधुबनी में 1, अररिया में 1, सहरसा में 1 और जहानाबाद में 2 मिले हैं. इससे पहले बुधवार को बिहार में एक ही दिन सबसे अधिक 29 जिलों में 243 नए कोरोना संक्रमित मिले थे। इसके पूर्व 31 मई को 242 मरीजों की पहचान की गई थी. 

बिहार में 13 जून से सभी 38 जिलों कोरोना संक्रमण की जांच होगी


बिहार के सभी 38 जिलों में 13 जून से कोरोना संक्रमण की जांच होने लगेगी. अभी 32 जिलों में इसकी जांच की व्यवस्था है। वहीं, शेष छह जिले सीतामढ़ी, वैशाली, अररिया, समस्तीपुर, शिवहर और शेखपुरा में 13 जून तक जांच की व्यवस्था हो जाएगी. स्वास्थ्य विभाग के सचिव लोकेश कुमार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह जानकारी दी. उन्होंने कहा कि तीन मई के बाद आने वालों में 3989 लोग कोरोना पॉजिटिव मिले हैं. यह राज्य के कुल पॉजिटिव मामलों का 71 प्रतिशत है. 

राज्य में कोरोना के अभी 2560 एक्टिव मरीज


बिहार में वैश्विक महामारी कोरोना का कहर पिछले 81 दिनों से जारी है फिर भी राज्य में जितने कोरोना के मरीज अभी एक्टिव हैं उससे ज्यादा संक्रमित मरीज ठीक हो चुके हैं। राज्य में कोरोना के अभी 2560 एक्टिव मरीज हैं जबकि 2770 संक्रमित मरीज स्वस्थ होकर अपने घर लौट चुके हैं. यह हालात के पूरी तरह नियंत्रण में होने का प्रतीक है. इसके बावजूद राज्य सरकार के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग के द्वारा जांच और अस्पतालों की व्यवस्था में इजाफा किया जा रहा है ताकि बिगड़े हालात से निपटने में आसानी हो सके.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More