अमित शाह की डिजिटल रैली में RJD पर बिफरे सुशील मोदी, कहा- घड़ियालू आंसू बहा रहा विपक्ष

पटना : बिहार में इसी साल होने वाले विधानसभा चुनाव की सियासी सरगर्मी के बीच आज भारतीय जनता पार्टी ने डिजिटल रैली की. कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के बीच देश के गृह मंत्री अमित शाह ने डिजिटल रैली के दौरान बिहार के भाजपा नेताओं, कार्यकर्ताओं और आम लोगों को संबोधित किया. रैली को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कोरोना महामारी से संघर्ष के बीच बीजेपी द्वारा देश में पहली डिजिटल रैली करने की बात कही. अमित शाह के संबोधन से पहले रैली को बिहार भाजपा अध्यक्ष संजय जायसवाल और प्रदेश के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने भी संबोधित किया. सुशील मोदी ने डिजिटल रैली के दौरान एक ओर जहां कोरोना वायरस से लड़ाई में केंद्र और बिहार सरकार के मिल-जुलकर काम करने की जानकारी दी, वहीं दूसरी ओर इस रैली के खिलाफ विपक्ष, खासकर राजद के ‘थाली बजाओ अभियान’ पर जमकर निशाना साधा.

सुशील मोदी ने अपने संबोधन के दौरान कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह ने समय रहते देश में लॉकडाउन घोषित किया, जिससे देश के लाखों लोगों की जान बच सकी. इसके लिए दोनों नेताओं को धन्यवाद देता हूं. नरेंद्र मोदी की सरकार अमेरिका सहित 50 देशों के लोगों के लिए मुफ्त में दवाएं पहुंचाना जानती है, तो भारत के लाखों लोगों की जान बचाना भी जानती है. बिहार के 8 करोड़ 76 लाख 15 किलो चावल और 3 किलो अरहर दाल पहुंचाना भी जानती है, जिसकी कीमत 6000 करोड़ रुपए है.

इसके अलावा करोड़ों लोगों को गैस मुहैया कराना और उनके खाते में 1-1 हजार रुपए पहुंचाना भी जानती है. विभिन्न राज्यों में फंसे लोगों को उनके घर तक पहुंचाना चुनौती थी. लेकिन मोदी सरकार ने 1500 से ज्यादा ट्रेन चलाकर 21 लाख मजदूरों को उनके घर पहुंचाने का काम किया है. कोटा के बच्चों का रेल किराया देने से जब राजस्थान सरकार ने मना कर दिया, तो बिहार सरकार ने इन 18000 बच्चों को घर पहुंचवाया.

बिहार के 86 लाख से ज्यादा मजदूरों को 10 किलो चावल और एक किलो चना भेजा. सुशील मोदी ने कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए बिहार सरकार द्वारा किए गए काम का भी विवरण दिया. बिहार के अंदर 14 हजार से ज्यादा लोगों को ब्लॉक क्वारंटाइन सेंटर में रखा जा रहा है. यहां से निकलने के बाद हर मजदूर को स्टील की थाली, कटोरी, ग्लास, कंघी, मच्छरदानी, धोती-साड़ी आदि मिलाकर 1000 का सामान बिहार सरकार ने दिया. इसके अलावा सरकार ने उन्हें अलग से 1000 रुपए भी देगी. क्वारंटाइन सेंटर में रहने वालों पर सरकार 5000 रुपए से ज्यादा पैसे खर्च कर रही है.

विपक्ष पर हमला करते हुए सुशील मोदी ने कहा कि विपक्ष गरीबों के नाम पर घड़ियाली आंसू बहा रहा है. उन्होंने कहा कि केंद्र और बिहार सरकार ने मिलकर गरीबों को 20 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा की मदद की है. राजद नेता तेजस्वी यादव के थाली बजाने के अभियान पर कटाक्ष करते हुए सुशील मोदी ने कहा कि बिहार के विपक्ष के नेता 15 साल में बिना काम किए अरबपति बन गए. 15 साल में वे पशुओं का चारा खा गए और आज जब नरेंद्र मोदी की सरकार गरीबों, मजदूरों के लिए काम कर रही है, तो विपक्ष थाली बजा रहा है.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More