बिहार सरकार ने किया 30 जून तक लॉकडाउन बढ़ाने का ऐलान

बिहार की नीतीश कुमार सरकार ने एक बड़ा फैसला लेते हुए लॉकडाउन को 30 जून तक बढ़ा दिया है. कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के लिए लागू लॉकडाउन के चौथे चरण का आज आखिरी दिन है. इसी बीच बिहार सरकार ने रविवार को ऐलान किया कि राज्य में एक महीने के लिए कोरोना लॉकडाउन को बढ़ाया जा रहा है. इस संबंध में गृह विभाग ने आदेश जारी कर दिया है.

गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव आमिर सुबहानी ने अपने आदेश में कहा है कि केंद्रीय गृह मंत्रालय ने कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए 30 मई 2020 को एक दिशानिर्देश जारी किया है. बिहार सरकार ने विचार विमर्श के बाद यह निर्णय लिया है कि गृह मंत्रालय के दिशानिर्देशों को राज्य में यथावत लागू एवं अनुपालन किया जाएगा. अपर मुख्य सचिव गृह ने अपने आदेश में कहा है कि राज्य सरकार के सभी विभागों एवं क्षेत्रीय प्रशासन के सभी अधिकारियों को निर्देश दिया जाता है कि गृह मंत्रालय के उपयुक्त आदेश एवं दिशा निर्देशों का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित करें. यहां गौर करने वाली बात है कि केंद्र सरकार के दिशा निर्देश में 8 जून से लॉकडाउन को चरणबद्ध तरीके से खोलने की बात भी कही गई है. हालांकि बिहार सरकार के आदेश में ऐसी कोई बात नहीं है.

लॉकडाउन के चौथे चरण की शुरुआत के साथ कई प्रकार की ढील दी गई थी. रेल, बस और टैक्सी सेवाएं भी शर्तों के साथ चालू हैं. वहीं नए दिशानिर्देश के मुताबिक, आठ जून से धार्मिक स्थल, रेस्टोरेंट, मॉल्स और होटल भी खोलने की अनुमति दी गई है. शनिवार को जारी केंद्र सरकार गाइडलाइंस में कहा गया है कि जो भी गतिविधियां अब तक प्रतिबंधित थीं, उन्हें चरणबद्ध तरीके से शुरू किया जाएगा। हालांकि बिहार सरकार ने ऐसी कोई बात नहीं कही है.

लॉकडाउन 4 के दौरान बिहार में दोगुने से भी अधिक बढ़ी मरीजों की संख्या 

बता दें कि बिहार में बड़ी मात्रा में प्रवासी श्रमिक आ रहे हैं. इस कारण कोरोना का संक्रमण भी काफी तेजी से फैल रहा है. लॉकडाउन तीन की तुलना में लॉकडाउन 4 के दौरान राज्य में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या दोगुनी से भी अधिक हो गई है. स्वास्थ्य विभाग द्वारा प्रतिदिन जारी किए जा रहे आंकड़ो के तुलनात्मक अध्ययन के अनुसार इस दौरान कोरोना संक्रमितों की जांच में भी इजाफा हुआ है. लॉकडाउन 3 की शुरुआत 03 मई से हुई और 17 मई तक थी. इस दौरान संक्रमितों की संख्या 516 से बढ़कर 1320 हो गई. वहीं, लॉकडाउन 4 18 मई से शुरु हुआ और रविवार यानी आज खत्म होगा. अबतक इस दौरान संक्रमितों की संख्या बढ़कर 3509 हो चुकी है. इस प्रकार 03 मई से 17 मई के बीच 804 मरीज की पहचान की गई. जबकि 18 मई से 30 मई के बीच 2189 संक्रमितों की पहचान की गई.

शुरू होंगी रेलगाड़ियां


वहीं सोमवार से ही कई रेलगाड़ियों का परिचालन भी शुरू हो रहा है. दरअसल, 1 जून से पूरे भारत में रेलवे विभिन्न राज्यों के लिए 230 ट्रेनों का परिचालन शुरू कर रहा है. इस कड़ी में अगर बिहार की बात करें तो बिहार के दानापुर रेल मंडल से 17 रेलगाड़ियां विभिन्न गंतव्यों के लिए प्रस्थान करेंगी और आएंगी. इन ट्रेनों में से राजधानी और सम्पूर्ण क्रांति जैसी कुछ गाड़ियां पटना से चलेंगी. साथ ही कई ऐसी ट्रेनें हैं जो पटना से होकर गुजरेंगी. पटना से भी इन ट्रेनों में यात्री सवार होंगे और उतरेंगे. 1 जून से शुरू होने वाली 200 विशेष मेल-एक्सप्रेस ट्रेनों के लिए भी तत्काल टिकट बुकिंग सुविधा उपलब्ध रहेगी. भारतीय रेलवे ने इन यात्री ट्रेनों में पार्सल और सामान ले जाने की भी अनुमति दी है. इसे लेकर पटना जंक्शन पर यात्रियों की होने वाली भीड़ को देखते हुए कई तरह की तैयारियां की जा रही हैं, जिसमें यात्रियों की एंट्री और निकासी के साथ-साथ सेनेटाइजेशन और सोशल डिस्टेंसिंग पर काम किया जा रहा है.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More