पटना के PMCH में कोरोना संदिग्ध मरीज ने की खुदकुशी, बाथरूम में लटकता मिला शव

पटना : बिहार के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल में एक मरीज ने खुदकुशी कर ली है. घटना राजधानी पटना के पीएमसीएच की है, जहां कोरोना वायरस के एक संदिग्ध मरीज ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. उसका शव अस्पताल के बाथरूम में फंदे से लटकता मिला.

मृतक की पहचान 44 वर्ष के शख्स के रूप में की गई है, जिसने लुंगी को ही फांसी का फंदा बनाकर अपनी जिंदगी समाप्त कर ली. अस्पताल से मिली जानकारी के मुताबिक, आत्महत्या करने वाला शख्स 23 मई को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती हुआ था और वह कोविड-19 का संदिग्ध था. उसने किस परिस्थिति में बाथरूम में जाकर सुसाइड किया है इस बात की जानकारी अस्पताल प्रबंधन करने में जुटा है.

बिहार के सबसे बड़े अस्पताल में बरती जा रही चौकसी के बीच हुई इस घटना से हड़कंप मच गया है. फिलहाल अधिकारी इस मामले में कुछ बोलने से बच रहे हैं और छानबीन का हवाला दे रहे हैं. आत्महत्या के बाद अब अस्पताल प्रबंधन मृतक का सैंपल लेने की तैयारी कर रहा है जिसके बाद यह स्पष्ट हो पाएगा उसमें कोविड-19 का लक्षण पॉजिटिव पाया गया था या नेगेटिव.

बिहार में कोरोना के 2737 मरीज

बिहार में सोमवार को कोविड-19 के 163 नये मामले सामने आने के बाद राज्य में कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 2,737 हो गई है. स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि हाल के दिनों में संक्रमितों की संख्या में तेजी से बढ़तोरी दूसरे राज्यों से आने वाले प्रवासियों की वजह से हुई है

चार-चार लाख रुपये की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की


बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्य में कोविड-19 की वजह से मौत होने वाले लोगों के परिजनों को चार-चार लाख रुपये की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की. बिहार में दो और लोगों के कोरोना वायरस के संक्रमण से मौत होने के बाद इस महामारी में जान गंवाने वालों की संख्या 13 हो गई है.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More