सीएम नीतीश कुमार का आदेश : पड़ोसी राज्यों से फंसे मजदूरों को लाने में छोटी गाड़ियों का भी करें उपयोग

बिहार सीएम नीतीश कुमार ने निर्देश दिया है कि जिलों में कोरोना जांच का कार्य शीघ्र शुरू होना चाहिए. इसमें अब देरी ना हो, यह सुनिश्चित करें. योजना बनाकर अधिक-से-अधिक कोरोना जांच ही इसके संक्रमण को फैलने से रोकने में कारगर साबित होगा. मुख्यमंत्री ने कोविड-19 की रोकथाम को लेकर किए जा रहे कार्यों की गुरुवार को उच्च स्तरीय समीक्षा की और कई निर्देश दिए.

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रवासी मजदूर बड़ी संख्या में अलग-अलग जोन से आ रहे हैं, अत: उनके क्वारंटाइन के लिए रणनीति बनाकर समुचित कार्रवाई करें. अलग-अलग जोन से आने वाले प्रवासी मजदूरों के लिए जोन के हिसाब से जांच की भी रणनीति बनाएं. यह भी निर्देश दिया कि बाहर से आने वाले प्रवसी मजदूरों को शीघ्र लाने के लिए ट्रेनों और बसों की अधिकतम क्षमता का उपयोग करें. ताकि जल्द-से-जल्द सभी इच्छुक मजदूरों को बिहार लाकर उनका ख्याल रखा जा सके. उन्होंने कहा कि नजदीक के राज्यों से जो प्रवासी मजदूर बिहार आना चाहते हैं, उन्हें लाने के लिए बसों के साथ-साथ छोटी गाड़ियों का भी उपयोग करें.

हम सभी की चिंता करते

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि सभी लोग सचेत और सतर्क रहें. परेशान ना हों. सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते रहें. हम सभी की चिंता करते हैं, चाहे राशन कार्डधारी हों, पेंशनधारी हों, किसान हों, वृद्धजन हों, दिव्यांगजन हों, चिकित्साकर्मी हों, छात्र-छात्राएं हों या दिहाड़ी मजदूर, ठेला वेंडर, रिक्शा चालक तथा अन्य कोई जरूरतमंद. सरकार द्वारा सभी को हरसंभव मदद की जा रही है.

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More