केंद्रीय पुलिस बलों के सभी कैंटीन में 1 जून से सिर्फ स्वदेशी प्रोडक्ट बिकेंगे, हर साल इन कैंटीन से 2800 करोड़ का सामान खरीदा जाता है

गृह मंत्री अमित शाह ने बुधवार को बताया कि केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों (सीएपीएफ) के सभी कैंटीन में 10 लाख जवानों के लिए 1 जून से सिर्फ स्वदेशी प्रोडक्ट बिकेंगे. हर साल इन कैंटीन से 2800 करोड़ का सामान खरीदा जाता है. उन्होंने बताया कि यह फैसला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील के बाद लिया गया. दरअसल, मोदी ने कल देश के नाम संबोधन में कहा था कि हमें लोकल के लिए वोकल (vocal about local) होना पड़ेगा. यानी आज से हर भारतवासी को न सिर्फ लोकल प्रोडक्ट्स खरीदने हैं, बल्कि उनका गर्व से प्रचार भी करना है.

गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीट भी किया. उन्होंने कहा कि मैं जनता से भी अपील करता हूं कि आप देश में बने उत्पादों का ज्यादा से ज्यादा.  

https://twitter.com/AmitShah/status/1260472585864839169?ref_src=twsrc%5Etfw%7Ctwcamp%5Etweetembed%7Ctwterm%5E1260472585864839169&ref_url=https%3A%2F%2Fwww.bhaskar.com%2Fnational%2Fnews%2Famit-shah-said-capfs-canteens-to-sell-only-indigenous-products-from-june-1-127297058.html

10 लाख जवानों के परिवार स्वदेशी उत्पादों का इस्तेमाल करेंगे
अमित शाह ने बताया, ‘केंद्रीय पुलिस बलों में काम करने वाले 10 लाख जवानों के 50 लाख फैमिली मेंबर इन स्वदेशी उत्पादों का इस्तेमाल करेंगे.’ केंद्रीय पुलिसबलों में सीआरपीएफ, बीएसएफ, सीआईएसएफ, आईटीबीपी, एसएसबी, एनएसजी और असम राइफल्स शामिल हैं. इनकी कैंटींस में 2,800 करोड़ रुपए का सालाना सामान बिकता है.’

You might also like

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More